modiनयी दिल्ली,  आतंकवाद को अंतरराष्ट्रीय शांति के लिये सबसे गंभीर खतरा बताते हुए भारत और मिस्र ने इस बुराई से हर स्तर पर निपटने का आज संकल्प व्यक्त किया। मिस्र के राष्ट्रपति अब्देल फतह अलसिसी के साथ विस्तृत बातचीत के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने यहां एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा कि बढ़ते कट्टरवाद, हिंसा और आतंकवाद का प्रसार दुनिया के अनेक हिस्सों में एक बड़ा खतरा बन चुका है।

बातचीत के बाद जारी संयुक्त वक्तव्य में कहा गया है कि दोनों नेताओं ने आतंकवाद के हर तौर-तरीके की कड़ी निंदा की। उन्होंने आतंकवाद को अंतरराष्ट्रीय शांति एवं सुरक्षा के लिये गंभीर खतरा माना। उन्होंने हर प्रकार के आतंकवाद से लड़ने में सहयोग को मजबूत करने का संकल्प जताया।

उन्होंने संयुक्त राष्ट्र में अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद पर व्यापक संधि को मंजूरी दिलाने में मिल कर काम करने का इरादा जताया। प्रतिनिधिमंडल स्तर की बातचीत में दोनों नेताओं ने द्विपक्षीय संबंधों पर विस्तार से बातचीत की। श्री मोदी ने श्री अलसिसी को मिस्र की नयी संसद में राष्ट्रपति चुने जाने के लिये बधाई दी । श्री मोदी ने मिस्र में लोकतांत्रिक बदलाव की प्रक्रिया को पूरा समर्थन देने की बात कही ।

Related Posts: