gunaगुना,  जिले के कैंट थाना क्षेत्र के निकटवर्ती गांव पिपरौदा खुर्द के सात बच्चों की उत्खनन के बाद बने गड्डें में डूबने से मौत हो गई है. इनमें से दो बच्चे सगे भाई हैं, जिनके पिता का निधन कुछ माह पूर्व हो गया था.घटना दोपहर 2 बजे के आसपास की बताई जाती है.

जब सातों बच्चे पिपरोदा खुर्द से एक-डेढ़ किमी दूर ललुआ टोरा में क्रेशर और खनिज के अंधाधुंध उत्खनन के बाद बने ग½े में नहाने गए थे.संभवत: एक बच्चे के डूबने के बाद उसे बचाने के चक्कर में सातों बच्चे काल के गाल में समा गए.घटना की जानकारी दोपहर में उस समय लगी जब लोगों ने एक बच्चे की लाश ऊपर तैरते देखी.जिसके बाद सूचना पर पहुंचे परिजन और पुलिस ने अन्य बच्चों को गड्डे से निकाला.

प्राप्त जानकारी के अनुसार पिपरौदाखुर्द निवासी टिल्लू (14) एवं करण (12) पुत्र स्व. अनिल कुशवाह, हेमंत रणवीर कोरी (12), दिलीप पुत्र जगन्नाथ कुशवाह (12), करण पुत्र विकास कुशवाह (10), गोलू पुत्र मस्ताना कोरी (12), आनंद पुत्र पर्वत कुशवाह (14), विकास पुत्र राजेन्द्र कोरी (12) रविवार की सुबह बस्ती में झांकी के लिए चंदा एकत्रित करने घरों से निकले थे.सभी नहाने के लिए ललुआ टोरा में बने गड्डे की ओर चले गए.जहां उनकी डूबने से मौत हो गई.सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने ग्रामीणों की मदद से शवों को पानी से निकला और शवों को जिला अस्पताल लाया गया.

Related Posts: