election_comissionनयी दिल्ली,  चुनाव आयोग ने विधान सभा चुनाव को देखते हुए राजनीतिक दलों को अख़बारों में कोई विज्ञापन देने से पहले उसकी मंजूरी लेने को अनिवार्य कर दिया है।

आयोग ने पिछले चुनाव विशेषकर बिहार के चुनाव में कुछ विज्ञापनों को लेकर उठे विवाद को देखते हुए यह कदम उठाया है।

इस तरह के आपत्तिजनक विज्ञापनों को लेकर राजनीतिक दल आयोग से शिकायत करने लगे थे और उन विज्ञापनों को लेकर ये दल आपस में आरोप- प्रत्यारोप और सफाई भी देने लगे थे।