ई-वेस्ट मटेरियल से बनाए साइंस मॉडल्स

भोपाल,साइंस मॉडल में अक्सर प्रोजेक्ट वर्क में स्टूडेंट्स पुराने सामान का इस्तेमाल करते हैं, लेकिन अब स्टूडेंट्स ई-वेस्ट मटेरियल से पूरा प्रोजेक्ट तैयार कर रहे हैं. इस तरह के मटेरियल से बने प्रोजेक्ट सेंट जोसफ को-एड स्कूल में इंटर स्कूल प्रतियोगिता में देखने को मिले.

इसके अलावा स्कूल में फ्री स्टाइल सोलो डांस कॉम्पिटीशन, मैथ्स एक्टिविटी, साहित्य और सोशल साइंस पर आधारित प्रतियोगिता, काव्य लेखन, जंक फूड के प्रभाव विषय पर प्रतियोगिता आयोजित हुई. सभी कॉम्पिटीशन में 30 स्कूलों के लगभग 1500 स्टूडेंट्स ने भाग लिया.

पुरानी सीडी और फ्यूज्ड बल्ब से बनाया प्रोजेक्टर- कार्मल कॉन्वेंट स्कूल भेल की स्टूडेंट्स त्रिशा पाठक और नुमरा खान ने पुरानी सीडी, दीवाली की एलईडी लाइट, फ्यूज्ड बल्ब, डीसी मोटर और प्लास्टिक की बॉटल को इस्तेमाल करके प्रोजेक्टर का वर्किंग मॉडल तैयार किया. त्रिशा कहती हैं, इलेक्ट्रोमाइंड्स कॉम्पिटीशन में ई-वेस्ट से ही मॉडल बनाने का टास्क मिला था, इसलिए इस मटेरियल से सामान बनाया.

पदमावती लुक अखबार की ड्रेस से

अखबार से ड्रेस बनाओ प्रतियोगिता में लगभग 40 स्टूडेंट्स ने भाग लिया, जिसमें किसी ने सूफी लुक तो किसी ने प्रिंसेज का लुक कैरी किया. दो स्टूडेंट्स पदमावती और राजा रावत रतन सिंह के कास्ट्यूम पहने नजर आए.

इसकी खास बात यह रही कि यह ड्रेस स्टूडेंट्स अपने साथ रखकर नहीं लाए थे, बल्कि क्लास रूम में उन्होंने ड्रेस डिजाइन की और फिर मंच पर आने के लिए उसे पहना भी. ड्रेस की डिजाइन में लेयर्स, फ्लॉवर और कटिंग्स के इस्तेमाल से इसे स्टूडेंट्स ने ड्रेस डिजाइनर की तरह की डिजाइन किया.

होम सिक्योरिटी मॉडल
सेंट मेरिज स्कूल हरदा के स्टूडेंट्स जतिन परसाई और प्रथम शुक्ला ने होम सिक्योरिटी मॉडल बनाया जिसमें उन्होंने साइकिल की घंटी, कपड़े सुखाने वाली क्लिप, कार के रिमोट, पुराने मोबाइल चार्जर और डीसी बैटरी का यूज करके मॉडल तैयार किया. दरवाजा खोलने पर या आग लगने पर इसमें लगा अलार्म बजने लगता है. इसकी सूचना मोबाइल पर भी आ जाती है.

Related Posts: