azim premjiनयी दिल्ली,  सूचना प्रौद्योगिक एवं सेवा के अलावा अन्य कारोबार में अपनी धाक रखने वाली कंपनी विप्रो के संस्थापक अजीम प्रेमजी शिक्षा के प्रचार-प्रसार के लिए 27514 करोड़ रुपये दान करके पिछले वर्ष देश के दानियों की सूची में अव्वल रहे।

चीन की कारोबारी पत्रिका हुरुन की जारी ‘भारतीय दानी’ की सूची में अजीम प्रेमजी के बाद सार्वजनिक नीति, शिक्षा और शहरी गवर्नेंस पर 2404 करोड़ रुपये के साथ नंदन रोहिणी निलकेणी एवं परिवार दूसरे तथा उद्यमियों को प्रोत्साहन देने के साथ ही सामाजिक विकास एवं शिक्षा के लिए 1322 करोड़ रुपये दान देकर इंफोसिस के संस्थापक एन. नारायण मूर्ति और परिवार तीसरे स्थान पर रहे।
रिपोर्ट में कहा गया है कि अजीम प्रेमजी फाउंडेशन देश में शिक्षा के विकास के उद्देश्य से आठ राज्यों के साढ़े तीन लाख से अधिक स्कूलों के लिए काम कर रहा है।