केंद्र सरकार ने कहा कि बजट में जिस अटल पेंशन योजना (एपीवाई) की घोषणा की गई है उसकी शुरुआत एक जून से की जाएगी। इसमें मुख्य रूप से असंगठित क्षेत्र के नागरिकों पर ध्यान देकर उन्हें 60 साल की उम्र होने के बाद पांच हजार रुपये तक पेंशन पाने का हकदार बनाया जाएगा। अभी जो लोग स्वावलंबन योजना से जुड़े हैं वे यदि इससे बाहर होने का विकल्प नहीं चुनते तो वे स्वत: एपीवाई में शामिल हो जाएंगे।

वित्त मंत्रालय ने एक बयान में कहा है कि इसमें उन तमाम नागरिकों पर ध्यान होगा जो किसी वैधानिक सामाजिक सुरक्षा योजना के सदस्य नहीं हैं। वे पेंशन फंड नियामक एवं विकास प्राधिकरण (पीएफआरडीए) द्वारा संचालित राष्ट्रीय पेंशन योजना में शामिल होंगे। एपीवाई के तहत पेंशन चाहने वालों को 60 साल के होने पर एक हजार रुपये से पांच हजार रुपये तक पेंशन मिलेगी। यह राशि इस बात पर निर्भर करेगी कि उस व्यक्ति ने कितने पैसे का योगदान किया है। इस योजना में 18 साल की उम्र से अधिकतम 40 साल तक के लोग भाग ले सकेंगे।

Related Posts: