guna 1गुना 22 जुलाई नससे. उपभोक्ताओं को थमाए जा रहे मनमाने बिलों का विरोध करने पहुंचे किसान संघ ने बिजली कंपनी के अधिकारियों के सुनवाई नहीं करने पर कुत्ते को मिठाई खिलाकर ज्ञापन सौंप दिया. प्रदर्शन के दौरान किसान संघ ने बिजली कंपनी के खिलाफ जमकर नारेबाजी की.करीब आधे घंटे तक किसान संघ ने हंगामा किया.इस बार बिजली उपभोक्ताओं को भेजे जा रहे बिजली के मनमाने बिलों ने कमर तोड़ दी है.

खासकर मध्यमवर्गीय परिवारों को सबसे अधिक भारी भरकम बिल थमाए गए है. बिलों में इस बार भारी गड़बड़ी देखने मिली है. रिडिंग के हिसाब से बिल आने की जगह बिलों में अतिरिक्त प्रभार की राशि बढ़ा कर उनमे वजन इतना बडा दिया गया है, कि गरीब लोगों के लिए यह मुश्किल बन गए हैं. बिलों में सुधार करने की मांग को लेकर अखिल भारतीय किसान संघ के बुधवार को बिजली कंपनी में ज्ञापन देने पहुंचा था. इस दौरान किसान संघ के पदाधिकारियों ने बाहर नारेबाजी करनी शुरू कर दी. इस दौरान वह काफी देर तक ज्ञापन सौंपने के लिए अधिकारियों का इंतजार करते रहे। लेकिन काफी समय के बाद जब कोई ज्ञापन लेने नहीं आया, तो पदाधिकारियों के सब्र का बांध टूट गया।

मौके पर मौजूद संघ के लोगों ने इस दौरान अनोखे ढंग से विरोध प्रदर्शन करते हुए एक कुत्ते को मिठाई खिलाई. इसके बाद उसे अपनी मांग से सबंधित ज्ञापन सौंप दिया. इस दौरान पदाधिकारियों ने बिजली कंपनी के अधिकारियों पर अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि, कंपनी बिलों में मनमाना रवैया अपना रही है. जिन घरों में कम बिजली जलने पर औसत बिल आते थे. उन परिवारों को दस-दस हजार रूपए के बिल थमाए गए हैं।