साइबर पुलिस ने किया गिरफ्तार

नवभारत न्यूज भोपाल,

साइबर पुलिस ने एक ऐसे आरोपी को पकड़ा है, जिसने अपनी भतीजी को अधिक भरण पोषण दिलाने के लिए फर्जी दस्तावेज तैयार किए. आरोपीनेे रिश्तेदार का ही आयकर खाता आईडी हैक कर लिया था. साइबर पुलिस इस मामले में अभी तक एक आरोपी को पकड़ चुकी है, जबकि दूसरा फरार चल रहा था.

साइबर पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार कोलार रोड़ निवासी हेमंत जैन ने शिकायत दर्ज कराई थी कि उनका आयकर खाता आईडी किसी ने हैक कर लिया है, और वह उसका लगातार उपयोग कर रहा है.

इस बीच वे अपनी आईडी पर नजर भी रखे रहे और आयकर विभाग से संपर्क किया. साइबर पुलिस ने जब जांच की तो सामने आया कि रजनीश अग्रवाल नाम के व्यक्ति ने उनका आईडी हैक कर लिया था और वह लगातार उपयोग कर रहा था.

रजनीश ने हेमंत के आधार कार्ड, पेन कार्ड, डिजिटल सिग्नेचर और जरूरी दस्तावेज तैयार कर आयकर खाता हैक कर लिया था. साइबर पुलिस की गिरफ्त में आए रजनीश ने बताया कि यह दस्तावेज उसे मुकेश बजाज नामक व्यक्ति ने उपलब्ध कराए थे.

इसलिए रची साजिश

साइबर पुलिस के मुताबिक मुकेश बजाज और हेमंत जैन रिश्ते में चाचा ससुर लगता है. उसकी भतीजी और हेमंत जैन के बीच भरण पोषण को लेकर मामला न्यायालय में विचाराधीन है, न्यायालय ने तीन हजार रुपए भरण पोषण राशि देना तय किया है, आरोपी इस फिराक में था कि उसकी भतीजी को अधिक भरण पोषण की राशि मिल सके, इसलिए उसने उसका आयकर खाता हैक कर लिया था.

Related Posts: