03nn2भोपाल,3 मार्च. राज्य शासन का नये कॉलेज खोलने के स्थान पर मौजूदा कॉलेज में अधोसंरचना विकसित करने पर जोर हैं. गुणवत्ता के लिए जरूरी है कि प्राध्यापक और विद्यार्थी कक्षा में उपस्थित रहें.

उच्च एवं तकनीकी शिक्षा मंत्री उमाशंकर गुप्ता ने यह बात शासकीय गीतांजलि कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय, भोपाल के डॉ. शंकरदयाल शर्मा स्वर्ण पदक एवं पुरस्कार वितरण समारोह में कही. गुप्ता ने महाविद्यालय के नवीन भवन का लोकार्पण भी किया. नवीन भवन की लागत 2 करो? 98 लाख रुपये है.उच्च शिक्षा मंत्री ने कहा कि विद्यार्थी महाविद्यालय में सीखने के उद्देश्य से आता है. वह प्राध्यापक के लेक्चर के साथ ही उसके व्यवहार और पहनावे से भी सीखता है. उन्होंने कहा कि शिक्षा विकास की धुरी है. विद्यार्थियों को कोर्स के साथ-साथ संस्कार की भी शिक्षा दी जाये.

Related Posts: