pic1भोपाल,  शिक्षा विभाग में संविलियन सहित एक अन्य मांगों को लेकर आंदोलनरत अध्यापकों की शुक्रवार को प्रस्तावित रैली प्रशासन की सख्ती की वजह से नहीं हो सकी.

पुलिस प्रशासन द्वारा लालघाटी चौराहे को अपनी चाकचौबंद घेरे में लिया गया था, साथ ही रेलवे स्टेशन, बस स्टेंड, हॉटलों पर पुलिस ने सघन तलाशी चलाकर अध्यापकों को पकड़ा. प्रदर्शन करने का प्रयास कर रहे अध्यापकों को पुलिस ने डंडे की दम पर वहां से हटाया. कई बार पुलिस व अध्यापकों के बीच टकराब की स्थिति बनी. अध्यापकों की कॉलर पकड़कर बस में बैठाया गया.

अध्यापक संयुक्त मोर्चा के बैनर तले अध्यापकों ने मांगों को लेकर लालघाटी चौराहे से सीएम हाउस तक हाथों में तिरंगा लेकर रैली निकालने के लिए शुक्रवार का दिन नियत किया था. शुक्रवार की सुबह से ही राजधानी में शिक्षकों का जमावड़ा शुरू हो गया.

लालघाटी और अन्य रास्तों पर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया था. अध्यापक संघ के प्रतिनिधियों द्वारा 50 हजार की संख्या में अध्यापकों के पहुंचने की बात कही जा रही थी, इसी के चलते प्रशासन काफी हरकत में आया था. एडीएम बीएम जामोद, बैरागढ़ एसडीएम रवि सिंह, एसपी अंशुमान सिंह और अरविंद सक्सेना सहित पुलिस के आला अधिकारी पल पल की जानकारी पर नजर बनाए हुए थे.

Related Posts: