14kk9फतुल्लाह, 14 जून. आफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन के पांच विकेट और हरभजन सिंह की उम्दा गेंदबाजी से भारत ने एकमात्र क्रिकेट टेस्ट के पांचवें और अंतिम दिन बांग्लादेश को फालोआन के लिए मजबूर किया लेकिन इसके बावजूद पांचों दिन बारिश के खलल के कारण मैच ड्रा रहा.

मैच के दौरान 250 से अधिक ओवर बारिश की भेंट चढ़ गए है और मेहमान टीम खुद को दुर्भाग्यशाली महसूस कर रही होगी कि उसे तीन दिन भी पूरा क्रिकेट खेलने का मौका नहीं मिला जिससे मैच उसके पक्ष में आ सकता था.
विराट कोहली की अगुआई वाली भारतीय टीम ने खेल के सभी विभागों में दबदबा बनाया और मैच के दौरान हमेशा हावी रही जिससे गुरुवार से शुरू हो रही तीन मैचों की वनडे श्रृंखला में मनोवैज्ञानिक लाभ के साथ उतरेगी. भारत ने पहली पारी छह विकेट पर 462 रन बनाकर घोषित की थी जिसके जवाब में बांग्लादेश ने पांचवें और अंतिम दिन की शुरुआत तीन विकेट पर 111 रन से की. पहले सत्र का खेल बारिश की भेंट चढऩे के बाजवूद बांग्लादेश की टीम 65.5 ओवर में 256 रन पर ढेर हो गई और उसे फालोआन को मजबूर होना पड़ा. भारत की ओर से अश्विन ने 25 ओवर में 87 रन देकर पांच विकेट चटकाए जबकि हरभजन ने 17.5 ओवर में 64 रन देकर तीन विकेट हासिल किए. फालोआन के बाद हालांकि जब बांग्लादेश ने दूसरी पारी में 15 ओवर में बिना विकेट खोए 23 रन बनाए तो दोनों टीमें मैच ड्रा कराने को राजी हो गई. तमीम इकबाल 16 जबकि इमरूल कायेस सात रन बनाकर नाबाद रहे. बांग्लादेश की ओर से पहली पारी में इमरूल कायेस ने सर्वाधिक 72 रन बनाए लेकिन सबका दिल पदार्पण कर रहे विकेटकीपर बल्लेबाज लिट्टन दास ने जीता जिन्होंने 45 गेंद में 45 रन की तेजतर्रार पारी खेली. उन्होंने अश्विन की गेंद पर रोहित शर्मा को कैच थमाने से पूर्व अपनी पारीमें आठ चौके और एक छक्का मारा. एक अन्य युवा बल्लेबाज सौम्य सरकार (37) ने भी अपने आक्रामक तेवर दिखाए लेकिन अच्छी शुरुआत को बड़ी पारी में बदलने में नाकाम रहे. दिन के दो सत्र में अश्विन का दबदबा रहा. अश्विन ने सबसे पहले साकिब अल हसन (9) को पवेलियन भेजा जो अतिरिक्त उछाल वाली गेंद को कट करने की कोशिश में विकेटकीपर रिद्धिमान साहा को कैच दे बैठे. सरकार ने इसके बाद भारत की स्पिन जोड़ी पर पलटवार किया. उन्होंने अश्विन पर दो चौके जड़े और कायेस के साथ पांचवें विकेट के लिए 51 रन की साझेदारी की.
हरभजन ने कुछ मौकों पर अच्छी गेंद फेंकी लेकिन उन्होंने साथ ही ढीली गेंदें भी की जिन पर आसानी से बाउंड्री लगी. हरभजन ने कायेस को साहा के हाथों स्टंप कराके अपना दूसरा विकेट हासिल किया. कायेस हरभजन के 415वें शिकार बने जिससे वह टेस्ट क्रिकेट के इतिहास के सबसे सफल गेंदबाजों की सूची में पाकिस्तान के वसीम अकरम को पछाड़कर नौवें स्थान पर पहुंच गए. अकरम के नाम 102 मैचों में 414 विकेट दर्ज हैं.

अगले ही ओवर में वरूण आरोन ने सरकार को बोल्ड करके मैच में अपना पहला विकेट हासिल किया. लिट्टन ने इसके बाद कुछ आकषर्क शाट खेले. उन्होंने पहले हरभजन पर स्वीप से चौका जड़ा और फिर आरोन की गेंद को पुल करके चार रन के लिए भेजा. इस बल्लेबाज ने अश्विन की लगातार गेंदों पर छक्का और चौका जड़ा. अश्विन ने शुवागता होम (9) को शार्ट लेग पर रोहित शर्मा के हाथों कैच कराके अपना चौथा विकेट चटकाया जिससे बांग्लादेश का स्कोर सात विकेट पर 219 रन हो गया.

चाय के बाद लिट्टन पवेलियन लौट गए जिसके बाद हरभजन ने मोहम्मद शाहिद को पवेलियन भेजा जबकि जुबेर हुसैन के रन आउट होने के साथ बांग्लादेश की पारी का अंत हुआ.

Related Posts: