14hindi1भोपाल,  अपनी भाषा, संस्कृति और वेश-भूषा से प्रेम करें.गृह मंत्री बाबूलाल गौर ने यह बात हिन्दी दिवस समारोह में कही.गौर ने कहा कि हिन्दी और हिन्दू संस्कृति को नष्ट करना अँग्रेजों की कुटिल चाल थी.उन्होंने कहा कि विभिन्न हमलावरों के कुप्रयासों के बावजूद हिन्दी और हिन्दू संस्कृति अक्षुण्ण थी और रहेगी.

संस्कृति राज्य मंत्री सुरेन्द्र पटवा ने कहा कि हिन्दी के संरक्षण और संवर्धन के हरसंभव प्रयास किये जाने चाहिए.महारानी लक्ष्मीबाई कन्या महाविद्यालय की छात्रा कु. अनुश्री सक्सेना ने कहा कि हिन्दी को राष्ट्र भाषा के साथ ही विश्व भाषा बनाने के प्रयास होना चाहिए.सरोजिनी नायडू कन्या महाविद्यालय की छात्रा कु. श्रोति मिश्रा ने कहा भाषा वर्षों नहीं सदियों में विकसित होती है.

प्राध्यापक श्रीमती उर्मिला शिरीष ने कहा कि हिन्दी वर्ष मनाया जाये.समारोह में सभी उपस्थित जन को हिन्दी सेवा की शपथ दिलवायी गयी.समारोह का शुभारंभ मध्यप्रदेश और हिन्दी गान से हुआ.समारोह में सांसद आलोक संजर, विधायकद्वय विश्वास सारंग और रामेश्वर शर्मा एवं अन्य जन-प्रतिनिधि उपस्थित थे.

पढ़ाना हिन्दी की सबसे बड़ी सेवा
ग्रामीण विकास मंत्री गोपाल भार्गव ने कहा कि हिन्दी माध्यम के स्कूल में बच्चों को पढ़ाना हिन्दी की सबसे बड़ी सेवा होगी.उन्होंने कहा कि अँग्रेजों ने जितनी अंग्रेजी 100 वर्ष में नहीं सिखायी उससे कई गुना अंग्रेजी स्वतंत्रता के बाद सिखायी गयी.

शा.स्कूलों व कॉलेजों में हिन्दी ओलम्पियाड होंगे
समारोह में उच्च एवं तकनीकी शिक्षा मंत्री उमाशंकर गुप्ता ने कहा कि प्रति वर्ष शासकीय विद्यालय और महाविद्यालयों में हिन्दी ओलम्पियाड करवाये जायेंगे.ओलम्पियाड में विजयी विद्यार्थियों को पुरस्कृत किया जायेगा.उच्च शिक्षा मंत्री गुप्ता ने कहा कि कोई विदेशी भाषा आम जन की भाषा नहीं बन सकती है.उन्होंने कहा कि लगभग 137 देश में हिन्दी बोली जाती है.गुप्ता ने कहा कि अन्य भाषाओं का भी ज्ञान हो, लेकिन हिन्दी अनिवार्य हो.सांसद अनिल माधव दवे ने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति को हिन्दी में हस्ताक्षर करना चाहिए.उन्होंने कहा कि हिन्दी और उसकी सहेली भाषाओं का विकास होना चाहिए.प्राथमिक शिक्षा मातृ-भाषा में दी जानी चाहिए.

Related Posts: