18cm1भोपाल, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अधिकारियों को चेतावनी दी है कि अपराधियों के खिलाफ कार्यवाही में लापरवाही को किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जायेगा.उन्होंने कहा कि अभियान चलाकर विस्फोटक लायसेंसों का सर्वे करवाया जाये और नियम प्रक्रियाओं का पूरा पालन सुनिश्चित किया जाये. उन्होंने साफ-साफ कहा कि लापरवाही के कारण हादसा होने पर जिले के कलेक्टर और एसपी जवाबदेह होंगे.सभी विभाग अपने कार्यों में सुधार लायें.किसी भी तरह की गड़बड़ी मिलने पर संबंधितों के खिलाफ कठोर कार्यवाही की जायेगी.

मुख्यमंत्री चौहान आज मंत्रालय में वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिये प्रदेश के कमिश्नरों, आईजी, कलेक्टरों और पुलिस अधीक्षकों सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारियों को संबोधित कर रहे थे.इस मौके पर मुख्य सचिव अंटोनी डिसा और अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अधिकारियों को योजनाओं का बेहतर क्रियान्यवयन सुनिश्चित करने के निर्देश दिये हैं.उन्होंने कहा कि जनता को सहजता से समय पर योजनाओं का लाभ मिले.उन्होंने स्पष्ट कहा कि जन-समस्याओं का त्वरित और समुचित निराकरण सुनिश्चित किया जाये.

साधिकार अभियान चलेगा
मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि जनता को सुशासन देना उनकी सर्वोच्च प्राथमिकता है.स्वच्छ प्रशासन के लिये कार्य में पूरी ईमानदारी, पारदर्शिता और प्रामाणिकता सुनिश्चित की जाये.उन्होंने कलेक्टरों को निर्देशित किया कि जन-कल्याणकारी योजनाओं का लाभ पात्र हितग्राहियों को आसानी से उपलब्ध करवाने के लिये रतलाम की तर्ज पर सभी जिलों में साधिकार अभियान चलाया जाये.
सभी पात्र हितग्राहियों को योजनाओं का पूरा लाभ मिले.जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी योजनाओं का लाभ हितग्राही को बिना किसी अड़चन के समय पर मिलना सुनिश्चित करेंगे.संभागायुक्त इसकी नियमित रूप से मॉनीटरिंग करेंगे.

खाद की काला बाजारी नहीं हो
मुख्यमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंस में प्रदेश में वर्षा की स्थिति की समीक्षा की.उन्होंने कहा कि कम वर्षा वाले जिलों में कम पानी में तैयार होने वाली फसलें बोने के लिये किसानों को समझाईश दी जाये.साथ ही सरलता से खाद-बीज उपलब्ध करवायें.उन्होंने कहा कि प्रदेश में रबी के लिये खाद का पर्याप्त भंडारण है.यह सुनिश्चित किया जाये कि खाद की कालाबाजारी नहीं हो.फसल कटाई का प्रयोग सही ढंग से हो जिससे किसानों को फसल बीमा योजना का लाभ मिल सके.साथ ही कम वर्षा को देखते हुए जिले की आवश्यकतानुसार कार्य-योजना पहले से बना ली जाये.जिले में ही रोजगारमूलक कार्य उपलब्ध करवाना सुनिश्चित किया जाये, जिससे पलायन नहीं हो.उन्होंने उड़द की फसल नुकसानी पर राजस्व पुस्तक परिपत्र के तहत राहत देने और फसल बीमा योजना में शामिल करवाने के लिये अधिकारियों को निर्देशित किया.

सभी वर्गों से संवाद हो
मुख्यमंत्री ने कहा कि त्यौहारों के दौरान शांति व्यवस्था पर विशेष ध्यान दिया जाये.सभी वर्ग से संवाद कायम किया जाये तथा शांति समिति की बैठकें की जायें ताकि सभी त्यौहार शांति और सदभावपूर्वक मनाये जा सकें.

Related Posts: