afganकाबुल,  अफगानिस्तान की राजधानी काबुल के एक दरगाह में आयोजित धार्मिक प्रार्थना सभा में अज्ञात बंदूकधारियों ने गोलियां चलाईं जिसमें कम से कम 14 लोगों के मारे जाने और 36 लोगों के घायल होने की आशंका है। पुलिस के एक अधिकारी ने नाम उजागर नहीं करने की शर्त पर बताया कि ‘करते साखी’ दरगाह में सैकड़ों की संख्या में शिया मुसलमान इकट्ठा थे तभी तीन बंदूकधारी दरगाह में घुस आए और उन्होंने अधाधुंध गोलियां चलाईं, जिसमें कम से कम 14 लोगों की मौत हो गई।

स्वास्थ मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि घटना में घायल हुए लोगों को शहर के विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। काबुल के पुलिस प्रमुख ने अब्दुल रहमान रहीमी ने बताया कि यह घटना रात आठ बजे से कुछ पहले की है। एक अन्य पुलिस अधिकारी ने बताया कि हमलावर सैनिकों की वर्दी में थे और उन्होंने सुन्नी मुसलमानों को निशाना बनाया। अफगानिस्तान के प्रमुख कार्यकारी अब्दुल्लाह अब्दुल्लाह ने घटना को कायराना कृत्य बताते हुए इसकी निंदा की है। अभी तक किसी भी आतंकवादी संगठन ने इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है।

Related Posts: