muftiनई दिल्ली, 2 मार्च. जम्मू कश्मीर की नवनिर्वाचित बीजेपी समर्थित पीडीपी सरकार ने एक दूसरे विवादित मुद्दे को उठा दिया है. मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद की सरकार ने केंद्र सरकार से संसद हमले के गुनहगार अफजल गुरू के अवशेष सौंपने की मांग की है. पीडीपी सरकार की इस मांग पर गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने फिलहाल कोई सीधा जवाब नहीं दिया है, हालांकि बीजेपी विधायकों की ओर से विरोध के स्वर उठने शुरू हो गए और भगवा पार्टी के विधायकों ने परंपरानुसार अफजल गुरू को देश विरोधी ठहराया है.

पीडीपी के आठ विधायकों ने इस संबंध में बयान जारी कर कहा कि पार्टी अफजल के अवशेषों की वापसी के लिए पूरी ताकत से लगे रहने का वादा करती है. गुरू को नौ फरवरी, 2013 को तिहाड़ जेल में फांसी दी गई थी.पीडीपी के बयान के अनुसार, पीडीपी गुरू के अवशेष वापस करने की अपनी मांग पर कायम है और पार्टी अवशेषों की वापसी के लिए पूरी ताकत से लगे रहने का वादा करती है.

Related Posts: