bpl2भोपाल,  राजधानी में अब सिंहस्थ महाकुंभ से लौटने वाले श्रध्दालुओं का जमावड़ा लग गया है. बस मार्ग से भी आने वाले सिंहस्थ श्रध्दालु अपने घर जाने हेतु बसों का सहारा न मिलने पर रात गुजारने और अपने गंतव्य तक जाने हेतु स्टेशन पर शरण ले रहे हैं.

इसका कारण है शहर के प्रमुख बस स्टेन्ड आईएसबीटी बहुत दूर है तो वहीं नादरा और हलालपुरा में पूर्ण इतने यात्रियों के विश्राम की सुविधा एवं सुरक्षा नहीं है. बसों की छतों पर सवार हो पहुंच रहे भोपाल . यह माना जा रहा है कि ऐसे हालत अभी कुछ दिन रहेगें. उज्जैन से अधिकांश बसें मेला प्रशासन द्वारा इंदौर के लिए चलाई जा रही है.

जिससे जनता जल्द से जल्द अपने घर लौट सके. इसका कारण है प्रदेश के अनेक जिलों बालाघाट, जबलपुर, रीवा, छतरपुर, डिण्डौरी, छिन्दवाडा, सागर के लिए सीधी बसें इंदौर से संचालित होती हैं. जहां से लंबी दूरियों वाले श्रध्दालुओं को आसानी से बसें प्राप्त हो सके. इसी के चलते शनिवार रात इंदौर से लंबी दूरी को जाने वाली बसें जो पहले नादरा होकर जाती थी. वह सभी बायपास होकर बगैर भोपाल रूके चलीं. इन गाडियों के यह हालत थे कि एक स्लीपर में पांच लोगों को बैठाकर सफर कराया गया. साथ ही किराया भी मनमाना वसूला गया.