shivrajभोपाल,  मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ‘ग्रामोदय से भारत उदय’ अभियान अब हर साल आयोजित कराए जाने की बात कही है।

आज वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से अभियान की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि अभियान का क्रियान्वयन पूरी गंभीरता और व्यवस्थित रूप से करें। यह जनता की समस्याओं का समाधान जमीनीस्तर पर करने का महत्वाकांक्षी अभियान है। इसमें किसी भी स्तर पर लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी। अभियान में जनप्रतिनिधियों के सम्मान, संवाद और सहभागिता पर विशेष ध्यान दें। कलेक्टर्स और कमिश्नर्स के साथ अभियान की इस समीक्षा के दौरान मुख्य सचिव एन्टोनी डिसा भी उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि अभियान में वातावरण निर्माण के विशेष प्रयास करें। जिन ग्राम सभाओं में उपस्थिति कम रही है वहां फिर से ग्राम सभाएं आयोजित करें। इस अभियान के दौरान ग्रामीण मिलकर विकास की योजनाएं बनायेंगे। यह विकेन्द्रीकरण का ऐसा प्रयोग है जिसमें जनता को निर्णय लेना है।

ग्राम सभाओं में हितग्राहीमूलक योजनाओं में पात्र हितग्राहियों की सूची बनायी जाये। अभियान को पूरी क्षमता और योग्यता से सफल बनाये। अभियान के दौरान आयोजित स्वास्थ्य शिविरों में चिन्हित की गयी संतानहीन महिलाओं के उपचार का व्यय मुख्यमंत्री स्वेच्छा अनुदान से किया जायेगा।

इस दौरान कृषि के शामिल खातों के बंटवारे और आवासीय पट्टों के वितरण का अभियान भी चलायें। सभी अधिकारी अभियान के तहत ग्रामसभाओं में भागीदारी करें।
मुख्यमंत्री ने कहा कि अभियान में बेहतर काम करने पर प्रदेश स्तर पर तीन जिलें, संभागस्तर पर तीन विकासखंड तथा जिलास्तर पर तीन ग्राम पंचायत को पुरस्कृत किया जायेगा। मध्यप्रदेश देश का एक मात्र प्रदेश है जो इस अभियान को 45 दिन तक चला रहा है। अभियान में किये गये कार्यों की समय से रिपोर्टिंग करें। उन्होंने अभियान में की गई कार्रवाई की जिलेवार जानकारी ली।

उन्होंने कहा कि इस दौरान जल संरचनाओं की मरम्मत और नये निर्माण की प्राथमिकता, कृषि की प्राथमिकता ग्रामस्तर पर तय करें। साथ ही प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के क्रियान्वयन की भी तैयारी करें।

समीक्षा में मुख्य सचिव श्री डिसा ने बताया कि अभियान के तहत 9 हजार 631 ग्राम संसद आयोजित की जा चुकी है। नामान्तरण के 44 हजार 732, बंटवारे के 6 हजार 500 और सीमांकन के 3 हजार 820 प्रकरण निराकृत किये गये है। अब तक 11 हजार 94 स्वास्थ्य शिविर आयोजित किये जा चुके हैं।

वीडियो कान्फ्रेंसिग में अपर मुख्य सचिव एस.आर. मोहन्ती, अपर मुख्य सचिव आर.एस. जुलानिया, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव इकबाल सिंह बैंस सहित संबंधित विभागों के प्रमुख सचिव उपस्थित थे।

Related Posts: