15 तक चलेगा सम्मेलन

नवभारत न्यूज झाबुआ,

नगर में आयोजित हो रहे अभा किन्नर सम्मेलन में गुरूवार रात को भी राजवाडा परिसर में गीत, गजल, भजनो, कव्वाली, पारंपरिक नृत्य, रेकार्ड डांस के रंगारंग कार्यक्रम को देखने के लिये हजारों की संख्या में दर्शकों ने तालियों की गडगडाहट के साथ कार्यक्रम का आनंद लिया।

रात्री 8.30 बजे से किन्नर समाज के लोगों ने भजनों की प्रस्तुति देकर कार्यक्रम का श्रीगणेश किया। इसके बाद ऐ मेरे नबी तु ही है सहारा कव्वाली के साथ दी गई प्रस्तुति ने सर्द वातावरण में भी श्रोताओं को झुमने को मजबुर कर दिया। वही श्रीकृष्ण के भजन सुनकर श्रोतागण भाव विभोर हो गये।

कार्यक्रम में देश के विभिन्न प्रांत दिल्ली, पंजाब, गुजरात, मध्यप्रदेश, राजस्थान, महाराष्ट्र, मुबई, पूणे के किन्नर कलाकारों ने अपनी सांस्कृतिक प्रस्तुतियों से लोगों का अच्छा खासा मनोरंजन किया। कार्यक्रम आयोजन 15 दिसंबर तक होगा.

मामेरा का आयोजन

भारतीय परंपरा के अनुसार अभा किन्नर सम्मेलन के दौरान सात से अधिक मामेरों की रस्म का निर्वाह किया गया। नसीमजान एवं सलमान जान ने बताया कि किन्नर समाज में भी रिश्ते नाते होते है और परंपरा के अनुसार अपने रिश्तेदारों को मामेरा रस्म के अंतर्गत नवीन वस्त्रादि उपहार स्वरूप दिये जाते है।

स्थानीय पैलेस गार्डन में आयोजित अभा किन्नर सम्मेलन में पूरे देश भर के किन्नरों ने एकत्रित होकर झाबुआ की इस धर्म धरा पर एकता एवं भाईचारे का संदेश प्रवाहित करने का काम किया जा रहा है।

Related Posts: