F-16वाशिंगटन,  अमेरिकी प्रशासन ने पाकिस्तान को आठ एफ़-16 जेट विमान खरीदने के लिए धन की स्वीकृति रोक ली है. अमेरिकी प्रशासन ने यह कदम सीनेट की विदेशी मामलों की समिति के अध्यक्ष बाब कोरकर के निर्देश पर उठाया है.

विमानों की खरीद के लिए अमेरिकी कोष से धन देने की स्वीकृति देने या उसे रोकने का अधिकार इस समिति का है. समिति के इस निर्देश के बाद अब पाकिस्तान को आठ विमानों की खरीद के लिए 70 करोड़ डालर की रकम स्वयं देनी पड़ेगी. पहले की व्यवस्था के अनुसार पाकिस्तान को 27 करोड़ डालर की रकम देनी थी और शेष 43 करोड़ डालर की रकम अमेरिका देता.

पाक को सैनिक सहायता के लिए अमेरिका से 2016-2017 में दी जाने वाली 74 करोड़ 20 लाख डालर की राशि भी रोक ली गयी है. अमेरिकी कांग्रेस अगर इस संबंध में अपना निर्णय बदलती है तो पाक को यह रकम जारी कर दी जायेगी. ओबामा प्रशासन इस संबंध में कांग्रेस से बात कर रहा है.

पाकिस्तान को एफ-16 विमान देने का इस वर्ष अमेरिकी कांग्रेस में कड़ा विरोध हुआ. कांग्रेस के दोनों सदनों में सदस्यों ने इसे रोकने के लिए प्रस्ताव पेश किये. अमेरिकी सीनेट ने इस वर्ष मार्च में इन विमानों की बिक्री की छूट दे दी थी, किन्तु विदेशी मामलों की समिति के अध्यक्ष बॉब कोरकर ने साफ कर दिया था कि वह पाकिस्तान के साथ किये गये इस सौदे के लिए अमेरिकी कोष से धन देने की मंजूरी नहीं देंगे.

कोरकर तथा अन्य सदस्यों ने पाकिस्तान के परमाणु कार्यक्रम पर चिन्ता व्यक्त की थी. उन्होंने आतंकवाद के विरुद्ध लड़ाई और अफगानिस्तान में शांति के प्रति पाकिस्तान की प्रतिबद्धता पर भी सवाल उठाये थे. फरवरी में अमेरिका के विदेश विभाग के प्रवक्ता ने कहा था कि पाकिस्तान खैबर एजेन्सी में आतंकवादियों के विरुद्ध एफ-16 विमानों का उपयोग कर रहा है किन्तु

भारत तथा अमेरिका के कुछ सांसदों ने इसे स्वीकार करने से इनकार कर दिया था. अमेरिकी सांसदों का कहना था कि पाकिस्तान इनका उपयोग भारत के विरुद्ध कर सकता है.

Related Posts:

8 हजार में से 8 सौ करोड़ तो मिले
सभी मसालेदार फसलों के लिए अब 26 हजार रुपये प्रति हेक्टेयर की दर से राहत
ट्रेन में घुसा इलेक्ट्रिक केबल का एंगल
सुधींद्र कुलकर्णी ने मिलाया पाक के सुर में सुर
जम्मू कश्मीर के मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद का निधन, राष्ट्रपति ,प्रधानमंत्री...
भ्रष्टाचार के आरोप साबित होने पर नवाज को जाना होगा जेल : इमरान