जेनेवा,

संयुक्त राष्ट्र द्वारा मान्यता प्राप्त मानवाधिकार विशेषज्ञों के समूह ‘यू एन वर्किंग ग्रुप ऑन आर्बिट्रेरी डिटेंशन’ ने वर्ष 2006 से अमेरिका के गुआंतानामो हिरासत सुविधा केन्द्र में कैद एक पाकिस्तानी नागरिक को तुरंत रिहा करने और उसे मुआवजा देने का निर्देश दिया है।

मानवाधिकार विशेषज्ञ समूह के पांचों सदस्यों ने इस संबंध में अपनी लिखित राय में कहा कि अम्मार अल-बलूची को मानमाने ढंग से हिरासत में लेना अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार कानून का उल्लंघन है और इसका कोई कानूनी आधार नहीं है।वहीं अमेरिका ने अल-बलूची को हिरासत में लेने के कदम को कानून के मुताबिक बताया है।

कुवैत में जन्मा अल-बलूची एक पाकिस्तानी नागरिक है जिसका दूसरा नाम अब्दुल अजीज अली है।अल-बलूची 11 सितंबर 2001 को अमेरिका में विश्व व्यापार केन्द्र(वर्ल्ड ट्रेड सेंटर) पर हुये हमले के कथित मास्टरमाइंड खालिद शेख मोहम्मद का भतीजा है।अल-बलूची पर भी इस हमले का षड़यंत्र रचने का आरोप है।

Related Posts: