kirbyवाशिंगटन, 28 अगस्त. अमेरिका ने पाकिस्तान और परमाणु हथियार रखने वाले सभी अन्य देशों से कहा है कि वे अपनी परमाणु क्षमताओं के विस्तार पर ‘अंकुश’ लगाएं। अमेरिका की इस सलाह से पहले दो अमेरिकी विचार समूहों ने कहा है कि पाकिस्तान के पास करीब एक दशक में परमाणु हथियारों का तीसरा सबसे बड़ा भंडार हो सकता है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता जॉन किर्बी ने कहा कि हम पाकिस्तान समेत परमाणु हथियार रखने वाले सभी देशों से अपील करते हैं कि वे अपनी परमाणु क्षमताओं के विस्तार पर अंकुश लगाएं। किर्बी से शीर्ष अमेरिकी विचार समूहों की उस रिपोर्ट के बारे में सवाल किया गया था जिसके अनुसार एक दशक में पाकिस्तान के पास 350 से अधिक परमाणु हथियार होंगे और यह अमेरिका एवं रूस के बाद परमाणु हथियारों का तीसरा सबसे बड़ा भंडार होगा। प्रवक्ता ने इस प्रश्न के उत्तर में यह बात कही।

स्टिमसन सेंटर और कार्नेजी एंडॉमेंट फॉर इंटरनेशनल पीस के दो जानेमाने विद्वानों टॉम डाल्टन और मिशेल क्रेपन द्वारा जारी 48 पृष्ठ की रिपोर्ट ‘ए नॉर्मल न्यूक्लियर पाकिस्तानÓ कहती है कि देश के परमाणु शस्त्रागार को बढाने का मार्ग विश्वसनीय न्यूनतम प्रतिरोधक क्षमता के उन आश्वासनों से कहीं आगे जाता है जो उसके अधिकारियों और विश्लेषकों ने परमाणु उपकरणों के परीक्षण के बाद दिए थे।

Related Posts:

टायगा सबसे अच्छा दोस्त: काइली जेनर
शरीफ की अमेरिका यात्रा से पहले ओबामा प्रशासन ने कहा- हथियार कार्यक्रम सीमित करे ...
पाक की कार्रवाई : मसूद अजहर हिरासत में
चीन के विरोध के बावजूद ओबामा ने की दलाई लामा से मुलाकात
मोदी का भारत-श्रीलंका मैत्री को मजबूत बनाने का आह्वान
आतंकवाद का निर्यात और कट्टरवाद आज सबसे बड़े खतरे हैं : मोदी