obama-50वॉशिंगटन।अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा कि अमेरिका जलवायु परिवर्तन की समस्या पैदा करने के संबंध में अपनी भूमिका के बारे में जानता है और वह अस्तित्व की इस लड़ाई में अपनी जिम्मेदारी निभाने के लिए तैयार है।
ओबामा ने अलास्का के एंकोरेज में ‘एट द ग्लोबल लीडरशिप इन द आर्कटिक: कोऑपरेशन, इनोवेशन, इंगेजमेंट एंड रिजिलियंस (ग्लेशियर) कांफ्रेंस’ को संबोधित करते हुए कहा, मैं विश्व की सबसे बड़ी अर्थव्यवथा के नेता के रूप में आज यहां आया हूं और यह दूसरा सबसे बड़ा उत्सर्जक है।

अमेरिका इस समस्या को पैदा करने में अपनी भूमिका को जानता है और हम इसे सुलझाने में हमारी जिम्मेदारी निभाने के लिए तैयार हैं। हमें भरोसा है कि हम इसे सुलझा सकते हैं।

उन्होंने विश्व के देशों से जलवायु परिवर्तन से पैदा हुई चुनौतियों से निपटने के लिए साथ मिलकर काम करने का आह्वान किया और कहा, यह अच्छी बात है। ओबामा ने कहा कि जलवायु परिवर्तन हर गुजरते साल के साथ और खतरनाक हो जाएगा। उन्होंने चीन और अमेरिका के बीच गत वर्ष हुए समझौते का जिक्र करते हुए कहा कि अमेरिका उत्सर्जन कम करने की अपनी गति दोगुनी करेगा और चीन ने अपने देश में उत्सर्जन कम करने की पहली बार प्रतिबद्धता जताई है।

Related Posts:

पाक को आतंकी शिविरों के सबूत देगा भारत
खालिदा के कार्यालय की तलाशी का वारंट जारी
दक्षिण अफ्रीका में भीषण हादसा,आमने-सामने भिड़ी ट्रेनें
मोस्ट वांटेड के समर्थन में उतरा पाकिस्तान, दाऊद को दबोचना महंगा पड़ेगा
चीन में धमाके 15 सीरियल ब्लास्ट, 6 लोगों की मौत, पार्सल बमों से किए गए ब्लास्ट
पूर्व ड्राइवर बनने जा रहा म्यांमार का राष्ट्रपति