florida1ऑर्लेन्डो, फ्लोरिडा,  इराक और सीरिया में सक्रिय कुख्यात आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट से प्रभावित एक मुस्लिम ने अमेरिका के फ्लोरिडा में आज तड़के समलैंगिकों के एक नाइटक्लब ‘पल्स’ में मौजूद लोगों पर अंधाधुंध गोलियां चलायीं। गोलीबारी में 50 लोगों के मारे जाने और 53 अन्य के घायल होने की पुष्टि की गयी है।

अमेरिकी प्रशासन ने फ्लोरिडा के ऑर्लेन्डो में हुए इसे आतंकवादी हमला करार दिया है। हमलावर की पहचान 29 साल के उमर एस मतीन के रूप में की गयी है। खुफिया एजेंसी एफबीआई के मुताबिक हमलावर के आईएस के प्रति लगाव का पता चला है लेकिन अभी इस तथ्य की जांच होनी बाकी है।

मीडिया में आयी खबरों के अनुसार हमलावर ने विस्फोटक से लैस जैकेट पहना हुआ था जिसे देखकर यह अनुमान लगाया जा रहा है कि वह आत्मघाती हमलावर था। अमेरिका के इतिहास में यह सबसे घातक गोलीबारी मानी जा रही है। इससे पहले 2007 में वर्जीनिया टेक यूनिवर्सिटी में हुई गोलीबारी की घटना में 32 लोग मारे गये थे। नाइटक्लब के अंदर सुरक्षागार्ड के रूप में तैनात एक पुलिस अधिकारी ने सबसे पहले हमलावर को जवाब दिया।

इसके तीन घंटे बाद सुबह पांच बजे कई पुलिसकर्मी मौके पर आ गये और उन्होंने हमलावर को मार गिराया लेकिन तब तक हमलावर वहां काफी तबाही मचा चुका था। ओरलैंडो के पुलिस प्रमुख जॉन मिना ने कहा, हमलावर के पास किसी प्रकार का ”संदेहास्पद उपकरण” भी था. रात करीब दो बजे हमलावर की मुठभेड़ क्लब में तैनात एक अधिकारी के साथ हुई, उसके बाद वह क्लब के भीतर चला गया और कुछ लोगों को बंधक बना लिया.

सुबह करीब पांच बजे बंधकों को छुड़ाने के लिए स्पेशल वेपन्स एण्ड टैक्टिस टीम ( स्वात ) टीम भेजी गयी, और उन्हीं अधिकारियों के साथ मुठभेड़ में संदिग्ध मारा गया. अधिकारी मिना ने कहा कि हमें अभी तक हताहतों की सही संख्या ज्ञात नहीं है. क्लब के भीतर करीब 50 लोगों की मौत हुई है. फ्लोरिडा के लॉ एन्फोर्समेंट विभाग के विशेष एजेंट प्रभारी डैनी बैंक्स ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि इस घटना की जांच आतंकवादी घटना के पहलू से की जा रही है कि यह आतंकवाद की स्थानीय घटना है या इससे अंतरराष्ट्रीय तार जुड़े हैं.

Related Posts: