वाशिंगटन,  भारतीय नीतिनिर्माताओं ने मुद्रास्फीति कम करने, वाह्य स्थिरता में सुधार और देश को राजकोषीय मजबूती की दिशा में आगे बढाने के लिए च्जोरदारज् कदम उठाए हैं।

यह बात अमेरिका के एक शीर्ष अधिकारी ने इन नीतिगत सुधार की प्रशंसा करते हुए कही जिससे निवेशकों का भारत में भरोसा बढ़ा है। उप वित्त मंत्री नैथन शीट्स ने कहा कि कच्चे तेल में नरमी से भारत को निस्संदेह वृद्धि तेज करने में मदद मिली है लेकिन नीतिगत सुधार से भारत की वृहत-आर्थिक स्थिरता में निवेशकों का भरोसा बढ़ाने में मदद मिली।

उन्होंने अमेरिका की एक प्रतिष्ठित शोध संस्था, कार्नेगी एंडाओमेट फॉर इंटरनैशनल पीस में अपनी टिप्पणी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की इस बात के लिए प्रशंसा की कि उन्होंने वृद्धि के प्रमुख उद्देश्य के तौर पर बुनियादी ढांचे की पहचान की है। शीट्स ने कहा, च्प्रधानमंत्री मोदी की सरकार और भारतीय रिजर्व बैंक की निर्णायक पहलों के जरिए भारत ने अपनी वृहत-आर्थिक बुनियाद को मजबूत किया है। उन्होंने कहा, भारतीय नीति-निर्माताओं ने मुद्रास्फीति कम करने, वाह्य स्थिरता बढ़ाने और भारत को राजकोषीय पुनर्गठन के मार्ग पर रखने के लिए जोरदार कदम उठाए हैं।

Related Posts: