jayaनई दिल्ली,  तमिलनाडु की मुख्यमंत्री एवं अन्ना द्रमुक की अध्यक्ष जे जयललिता ने आज यहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की और राज्य की सामाजिक एवं आर्थिक स्थिति पर विचार विमर्श किया.

उन्होंने प्रधानमंत्री को बाढ़ राहत के लिए 25912 करोड़ रुपये की मांग समेत 29 मांगों वाला ज्ञापन सौंपा. इस ज्ञापन में जलीकट्टू पर से प्रतिबंध हटाने, श्रीलंका की जेलों में कैद मछुआरों को रिहा कराने और जीएसटी पर अन्नाद्रमुक के दृष्टिकोण को भी शामिल किये जाने की मांगें शामिल हैं. मुख्यमंत्री ने तमिलनाडु को नीट के दायरे से बाहर रखने का आग्रह भी किया. उन्होंने कहा कि वह चाहती हैं कि केन्द्र सरकार मछुआरों को एसटी में शामिल करें और मद्रास हाई कोर्ट में तमिल को सरकारी भाषा बनाए.

जयललिता सुबह चेन्नई से नयी दिल्ली पहुंचीं. वह हवाई अड्डे से सीधे तमिलनाडु भवन गयी जहां उनका परंपरागत स्वागत किया गया. हाल ही में विधानसभा चुनावों में लगातार दूसरी बार जीत दर्ज करने के बाद जयलिलता का राजधानी का यह पहला दौरा है और वह पहली बार मोदी से मिली हैं.

Related Posts:

शिवराज ने की मोदी से भेंट, कृषि बीमा पर आये सुझावों से अवगत कराया
मेरे खिलाफ अपशब्दों को छापें, तो कागज से ढंक जाए ताजमहल: मोदी
थैचर को दिया रीगन का तोहफा करीब तीन लाख पाउंड में नीलाम
मून भारत पाक के बीच मध्यस्थता के लिए तैयार
दिल्ली में न्यूनतम तापमान और गिरा,कोहरे से ट्रेन सेवा प्रभावित
पटना के एक बड़े मॉल में लगी आग से करोड़ों की संपत्ति जलकर नष्ट