नगदी समेत लाखों का सामान भी हुआ स्वाहा, डेढ़ घंटे की मशक्कत के बाद आग हुई काबू

नवभारत न्यूज भोपाल,

गोविंदपुरा थाना क्षेत्र में सोमवार सुबह अलकापुरी गेट के पास झुग्गियों में भीषण आग लग गई. देखते ही देखते आग इतनी विकराल हो गई कि उसने आसपास की करीब आधा सैकड़ा से अधिक झुग्गियों को अपनी चपेट में ले लिया.

आग की सूचना पर मौके पर पहुंचे दमकल कर्मियों ने करीब डेढ़ घंटे की भारी मेहनत के बाद आग पर काबू कर उसे बुझा दिया. इस आगजनी में करीब आधा सैकड़ा से झुग्गियां जलकर खाक हो गई. इस हादसे में कोई हताहत नही हुआ बल्कि झुग्गियों में रखा घर गृहस्थी का लाखों का सामान जलकर राख हो गया.

जानकारी के मुताबिक आज दोपहर करीब पौन बजे अलकापुरी इलाके के गेट नम्बर दो पर सिलेंडर फटने से पास ही स्थित झुग्गियों में आग लग गई. देखते ही देखते आग ने विकराल रूप ले लिया. आग ने आधा दर्जन से ज्यादा झुग्गियों को अपनी चपेट में ले लिया.

आगजनी के हादसे के बादे झुग्गी में रहने वालों में अफरा तफरी का माहौल व्याप्त हो गया. अफरा तफरी के बीच रहवासी बदहवास होकर सामान निकालने की कोशिश भी करते नजर आए मगर घटना स्थल पर मौजूद लोगों ने किसी भी महिला और पुरूष को आग की विकरालता को देखते हुए भीतर जाने नहीं दिया.

22 टैंकर पानी बरसाया

ननि के फायर अफसर रामेश्वर नील के मुताबिक अल्कापुरी के निकट स्थित झुग्गियों में लगी आग को बुझाने के लिए करीब 22 टैंकर पानी डाला गया. इस कार्य में भेल प्रशासन, पुलिस प्रशासन के दमकल कर्मी भी शामिल रहे. आगजनी पर काबू करने में दमकल कर्मियों को करीब डेढ़ घंटे से भी अधिक का समय लगा.

मौके पर वरिष्ठ आला अफसर भी पहुंचे

अल्कापुरी इलाके के गेट नंबर दो के पास स्थित झुग्गियों में लगी आग की सूचना मिलते ही मौके पर नगर निगम, भेल प्रशासन, जिला प्रशासन के आला अफसर भी मौके पर पहुंचे. जहां उन्होंने मौके का जायजा लिया. प्रभावितों से चर्चा भी की. हालांकि आग में अब तक कोई जनहानि नहीं होने की सूचना है, बाद में डीआईजी धर्मेन्द्र चौधरी, कलेक्टर सुदामा खाड़े ने भी घटना स्थल का दौरा कर स्थिति को जाना.

मासूम बच्चे को बचाने वाले पुरस्कृत

आगजनी के दौरान एफआव्ही में कार्यरत हैड कॉस्टेबल भगवान यादव और कॉस्टेबल रूपसिंह भदौरिया ने अपनी जान पर खेलकर झुग्गी की आग में फंसे एक मासूम बच्चे को सकुशल बाहर निकाला और एक झुग्गी में रखे दस गैस सिलेण्डर भी समय रहते बाहर निकाल लिये. अन्यथा बड़ी दुर्घटना हो सकती थी.

वहीं बागसेवनिया थाने के एएसआई राजकुमार ने भी बचाव कार्य में सहयोग किया. इनकी इस बहादुरी पर तीनों पुलिस कर्मियों को डीआईजी चौधरी ने इनाम देने की घोषणा भी की. इस दौरान कलेक्टर ने भी इन बहादुर कर्मियों को पुरूस्कृ़त करने का आश्वासन दिया.

सामान बचाने कूदी महिला को फायर कर्मियों ने रोका

इस आगजनी में अपनी झुग्गी जलती देख एक महिला अपना रूपया और सामान बचाने भीषण आग में कूदने के लिए छलांग लगा दी. मगर मौके पर मौजूद दमकल कर्मियों ने उसे पकडक़र झुलसने से उसे बचा लिया.

इस दौरान वह अपने पैसे और घर का सामान जल रहा है कहते हुए बार-बार रो-रो कर बिलखती रही. इसी तरह यहां झुग्गियों में रहने वाले कई लोग अपने सामान को बचाने में लगे हुए हैं. जिसमें कई लोगों ने तो अपना सामान समेटने में कामयाबी हासिल कर ली मगर अधिकांश लोगों का आग में रूपये पैसे व अन्य घर का सामान जलकर खाक हो गया.

Related Posts: