bpl1भोपाल,  पुलिस द्वारा वैसे तो कई बार अवैध वसूली के किस्से आम रूप में सुनाई देते हैं. यह थानों में आम बात है. परन्तु इसमें कोई भी पुलिस का आलाधिकारी

कुछ नहीं करता है.
मप्र के गृह विभाग द्वारा सीना ठोक कर डायल 100 नम्बर एसआरबी सुविधा लोगों के लिए प्रारंभ की गई थी. इससे शहर में अपराध कम होने का दाबा किया जा रहा था . परन्तु एसआरबी में तैनात जबान कभी तो शराब के नसे में धुत महिलाओं को पीट देते रहे हैं तो कहीं अवैध वसूली कर रहे हैं.

राजधानी के प्रत्येक थानों को डायल 100 एसआरबी अपराध रोकने हेतु प्रदान की गई है. जो प्रत्येक थानों के मुख्य चौराहों पर खड़ी रहती है. बुधवार को थाना छोला अंतर्गत डायल 100 एसआरबी 19 जो थाना क्षेत्र के मुख्य चौराहे भानपुर में खड़ी रहती है. उसमें तैनात एएसआई कालूराम गौर और आरक्षक दिनेश सिंह चौराहे में एसआरबी को खड़े रखने की बजाय उससे भानपुर चौराहा बायपास सड़क पर आटो चालकों से अवैध वसूली कर रहे थे.

इसकी सूचना पुलिस अधिक्षक नार्थ अरविंद सक्सेना को आटो चालक द्वारा दी गई. सूचना प्राप्त होते ही पुलिस अधिक्षक द्वारा एएसआई और आरक्षक को तत्काल सस्पेंड कर दिया गया.

वहीं कुछ दिन पूर्व ही थाना टी.टी .नगर अंतर्गत माता मंदिर में खड़ी डायल 100 में तैनात दो पुलिस कर्मियों को भी पुलिस अधिक्षक साउथ अंशुमन सिंह द्वारा थाना में हंगामे के बाद सस्पेंड कर दिया गया था. दरअसल माता मंदिर में तैनात डायल 100 को कंट्रोल रूम से सूचना प्राप्त हुई थी की रूपनगर में किसी शराबी द्वारा शराब पीकर उपद्रव किया जा रहा है. मौके पर पहुंची डायल 100 में तैनात पुलिसकर्मियों द्वारा नशे की हालत में धुत महिलओं पर ही लाठीयां बरसा दीं.

इसके विरोध में मोहल्लें वाले थाना टी.टी.नगर में पुलिसकर्मियों की शिकायत दर्ज करवाने गए थे.परन्तु उनकी कोई सुनवाई नहीं हुई. तो महिलओं द्वारा थाने में हंगामा किया गया. इसकी सूचना पुलिस अधिक्षक को लग गई थी.
वहीं अन्य थानों में डायल 100 में तैनात पुलिस कर्मियों के लिए सफारी गाडी आराम करने का साधन बनी हुई है.े