rahulजोरहट,  असम में चुनावी तैयारियां जोर पकड़ती हुई दिख रही हैं. हालांकि राज्य विधानसभा का कार्यकाल मार्च में खत्म होना है लेकिन तारीखों की घोषणा अभी नहीं हुई है.

सोमवार को जोरहट में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जमकर आड़े हाथों लिया.

राहुल गांधी ने कहा, चुनाव जल्द होने वाले हैं. बीजेपी यहां भाषण देने आएगी. जैसे नरेंद्र मोदी ने झूठे वादे किए थे. नरेंद्र मोदी जी बड़े-बड़े भाषण देते हैं, मेक-इ-इंडिया, क्लीन इंडिया, हर रोज वे एक नया स्लोगन लॉन्च कर देते हैं. केंद्र सरकार के कामकाज की आलोचना करते हुए उन्होंने ने कहा, क्या यहां कोई ऐसा आदमी है जिसे मोदी जी के कारण नौकरी मिली है?

जब वह यहां आए थे तो उन्होंने नौकरियां देने का वादा किया था. ये चुने हुए उद्योगपतियों का काम करते हैं, गरीबों का नहीं. मोदी जी वादे पूरे नहीं करते हैं. आपने कभी भी उनकी तस्वीर किसानों के साथ या मजदूरों का हाथ पकड़े हुए नहीं देखी होगी. जहां भी चुनाव होते हैं, बीजेपी के लोग जाते हैं और एक हिंदुस्तानी को दूसरे हिंदुस्तानी से लड़ाते हैं.

15 साल पहले तरुण गोगोई असम के मुख्यमंत्री बने थे. तब यहां हिंसा थी, गुस्सा था, आंसू थे, खून खराबा हो रहा था. गोगोई जी के मुख्यमंत्री बनने के बाद कांग्रेस इस हिंसा को खत्म करने के लिए काम शुरू किया और धीरे-धीरे राज्य ने तरक्की शुरू कर दी.