taslimaकोझिकोड,  विवादों में घिरीं बंगलादेश की लेखिका तस्लीमा नसरीन का कहना है कि भारत एक असहिष्णु देश नहीं है लेकिन यहां के कुछ लोग असहिष्णु जरूर हैं।

डी सी बुक्स द्वारा आयोजित चार दिन के केरल साहित्य सम्मेलन में शामिल हुई सुश्री तसरीन ने संवाददाताओं से कहा कि महाराष्ट्र के वामपंथी नेता गोविंद पनसारे और कर्नाटक के लेखक कलबुर्गी की हत्या के विरोध में साहित्यकारों को सम्मान वापस करने का पूरा अधिकार है। उन साहित्यकारों को अपना विरोध प्रदर्शित करने का पूरा अधिकार है।