vid1नायपीडॉ,  सैकड़ों सांसदों म्यांमार की संसद में पहली बार लोकतांत्रिक तरीके से चुनी हुई सरकार को 50 साल बाद देखा. असेंबली में आंग सान सू ची की पार्टी नेशनल लीग डेमोक्रेसी के सांसदों का दबदबा होगा. पिछले साल नवंबर में हुए चुनाव में 80 पर्सेंट सीटों पर एनएलडी ने जीत दर्ज की थी लेकिन सारी सीटों की एक तिहाई सीट मिलिटरी के लिए रिजर्व कर दी गई है. यहां तक कि अहम मंत्रालयों पर भी मिलिटरी का ही कंट्रोल रहेगा.

म्यांमार में दशकों से चले आ रहे सैनिक शासन का अंत हो गया है. इसके साथ ही वहां की संसद भंग कर दी गई. इस मौके पर राजधानी नायपीडॉ में नृत्य-संगीत का कार्यक्रम भी रखा गया. पिछले साल नवंबर में हुए ऐतिहासिक आम चुनावों में के बाद ये कदम उठाया गया है. इन चुनावों में मुख्य विपक्षी दल नेशनल लीग फॉर डेमोक्रेसी को सबसे ज्यादा सीटें मिलीं. आंग सान सू ची इसकी नेता हैं.

सू ची ने अपने दल के लिए रास्ता खोलने के लिए अपने विरोधियों को धन्यवाद कहा. सू ची ने संसद को संबोधित करते हुए कहा, मुझे यकीन है कि हम अपने देश और जनता के लिए संसद के बाहर और अंदर आपस में सहयोग कर सकते हैं. इसके पहले म्यांमार की संसद पर सेना की पृष्ठभूमि वाले लोगों का दबदबा रहता था. सदस्य संसद में बने स्टेज पर चढ़ गए और नाचने गाने लगे.

Related Posts: