27cpr2omkareshwarभोपाल,27 अप्रैल. नर्मदा घाटी विकास राज्य मंत्री लाल सिंह आर्य ने नर्मदा भवन में ओंकारेश्वर सिंचाई परियोजना जलाशय भरने का विरोध करने वालों से दो घण्टे तक चर्चा की है.जलाशय भराव का विरोध करने वालों की ओर से मुख्यमंत्री को चर्चा करने के लिये पत्र भेजा गया था.जिसके बाद ये चर्चा शुरु की गई है.

जलाशय छोडें  आंदोलनकारी
आर्य ने किसानों के हित में आन्दोलनकारियों से जलाशय से हटने की अपील की है, लेकिन चर्चा कर रहे प्रतिनिधि ओंकारेश्वर जलाशय रिक्त करने की ही माँग पर अड़े रहे. आर्य ने बताया कि भूमि के बदले भूमि चाहने वाले 221 परिवार को शासन ने वैकल्पिक भूमि प्रस्तावित की है. लेकिन इन परिवारों ने प्रस्तावित भूमि लेने से इन्कार कर दिया है. चर्चा में प्रमुख सचिव नर्मदा घाटी विकास रजनीश वैश और अधिकारी उपस्थित थे.

Related Posts:

विकास के साथ-साथ जन-जातीय संस्कृति का संरक्षण जरूरी
ईद आज, अमन-चैन की दुआ मांगी जाएगी
राजीव गांधी को पुष्पांजलि
निरीक्षण के दौरान दो कर्मचारी निलंबित करने के निर्देश
उपचुनावों में भाजपा की जीत के लिए जुटा है पूरा प्रशासन : दिग्विजय सिंह
उच्च न्यायालय के निर्णय के विरुद्ध उच्चतम न्यायालय में अपील करेगी सरकार