हैदराबाद,  तेज गेंदबाज मिशेल जॉनसन के कमाल के आखिरी ओवर से मुंबई इंडियंस ने सांसों को रोक देने वाले बेहद रोमांचक फाइनल में राइजिंग पुणे सुपरजाएंट्स को आज मात्र एक रन से पराजित कर आईपीएल-10 में चैंपियन बनने का गौरव हासिल कर लिया. मुंबई ने इस तरह तीसरी बार आईपीएल खिताब जीतकर इतिहास बना दिया और वह तीन बार यह खिताब जीतने वाली पहली टीम बन गई. मुंबई इंडियंस के क्रुणाल पांड्ïया को मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार दिया गया.

मुम्बई ने आठ विकेट पर 129 रन का मामूली स्कोर बनाने के बावजूद पुणे को छह विकेट पर 128 रन पर थामकर खिताब अपने नाम किया. पुणे के पास अपने पहले फाइनल में चैंपियन बनने का पूरा मौका था लेकिन उसने आखिरी दो ओवरों में इस मौके को गंवा दिया. जॉनसन ने अंतिम ओवर में मनोज तिवारी और पुणे के कप्तान स्टीवन स्मिथ (51) का विकेट लेकर पुणे का सपना तोड़ दिया.

क्रिस्टियन के रन आउट होते ही पूरा मुंबई खेमा मैदान में दौड़ पड़ा. रोहित के चेहरे की खुशी और बाकी खिलाडिय़ों को हर्षोल्लास देखने लायक था. उन्होंने हार के जबड़े से खिताब को छीन लिया. मुंबई को इस जीत से 15 करोड़ रुपये की पुरस्कार राशि मिली जबकि पुणे को 10 करोड़ रुपये से संतोष करना पड़ा. मुंबई ने इससे पहले 2013 और 2015 में यह खिताब जीता था.

आस्ट्रेलिया के स्टीवन स्मिथ फाइनल में इस कदर मिली नजदीकी हार से निराशा के सागर में डूब गए. पूरा पुणे खेमा ही सदमे में था कि आखिर उनके हाथ से जीत कैसे निकल गई. पुणे ने पहले क्वालिफायर में मुम्बई को 20 रन से हराया था. लेकिन फाइनल मुम्बई ने उस हार का बदला चुका लिया. पुणे के सामने लक्ष्य हालांकि बड़ा नहीं था लेकिन उसके बल्लेबाजों ने बड़ी सावधानी से खेलते हुए मुकाबले को अंत तक रोमांचक बना दिया और इसी चक्कर में उनके हाथ से खिताब जीतने का मौका निकल गया. पुणे ने यदि अपनी रन गति ठीक रखी होती तो आज वह चैंपियन बन जाते. ओपनर अंजिक्या रहाणे ने 38 गेंदों में पांच चौकों की मदद से 44 रन की शानदार पारी खेली. रहाणे ने कप्तान स्टीवन स्मिथ के साथ दूसरे विकेट के लिए 54 रन की साझेदारी की.

राहुल त्रिपाठी (3) के तीसरे ओवर में जसप्रीत बुमराह की गेंद पर पगबाधा होने के बाद रहाणे और स्मिथ ने पुणे की पारी को संभाला. रहाणे 12वें ओवर में मिशेल जॉनसन की गेंद पर किरोन पोलार्ड को कैच थमा बैठे. उनका विकेट 71 के स्कोर पर गिरा. पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने 13 गेंदों में एक चौके की मदद से 10 रन बनाये. बुमराह ने धोनी को विकेटकीपर पार्थिव पटेल के हाथों कैच कराया. धोनी का विकेट 17वें ओवर में 98 के स्कोर पर गिरा. इसके बाद स्मिथ अपने अर्धशतक के बावजूद टीम को खिताब की मंजिल पर नहीं ले जा सके. जॉनसन ने 26 रन पर तीन विकेट और बुमराह ने 26 रन पर दो विकेट लेकर एक समय असंभव लग रही जीत मुंबई की झोली में डाल दिया.

मुंबई के मेंटर मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने इस जीत को अद्भुत बताया. पहली बार फाइनल में पहुंचे राइजिंग पुणे सुपरजाएंट्स ने शानदार गेंदबाजी और जबरदस्त फील्डिंग का नमूना पेश करते हुए मुंबई इंडियंस की मजबूत बल्लेबाजी को आठ विकेट पर 129 रन पर रोका था लेकिन उसके बल्लेबाज इस लक्ष्य को हासिल नहीं कर पाए.

मुंबई ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया. बाएं हाथ के तेज गेंदबाज जयदेव उनादकट ने तीसरे ओवर में पार्थिव पटेल और लेंडल सिमंस के विकेट लेकर मुंबई को झकझोर दिया. पटेल ने तीन और सिमंस ने चार रन बनाये. अंबाटी रायुडू 12 रन बनाकर पुणे के कप्तान स्टीवन स्मिथ के थ्रो पर रन आउट हो गए. चौथे नंबर पर खेलने उतरे रोहित ने 22 गेंदों पर चार चौकों की मदद से 24 रन बनाये लेकिन ऑस्ट्रेलियाई लेग स्पिनर एडम जम्पा ने रोहित का विकेट ले लिया. कीरोन पोलार्ड सात रन बनाकर जम्पा का दूसरा शिकार बन गए.

हार्दिक पांड्या 10 रन बनाकर डेनियल क्रिस्टियन की गेंद पर पगबाधा हो गए. कर्ण शर्मा एक रन बनाकर रन आउट हो गए. क्रुणाल पांड्या ने 38 गेंदों पर तीन चौकों और दो छक्कों की मदद से 47 रन बनाकर मुंबई को 129 के स्कोर तक पहुंचाया. मिशेल जॉनसन 13 रन बनाकर नाबाद रहे. उनादकट ने 19 रन पर दो विकेट,जम्पा ने 32 रन पर दो विकेट और क्रिस्टियन ने 34 रन पर दो विकेट लिए.

Related Posts: