arun_jaitleyसिडनी,  वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आज कहा कि अगले कुछ साल में भारत के आठ फीसदी या उससे ज्यादा की रफ्तार से विकास के लिए जमीन तैयार हो चुकी है तथा इसमें बैंकिंग सेक्टर की अहम् भूमिका होगी। चार दिवसीय ऑस्ट्रेलिया दौरे पर आये श्री जेटली ने पहले दिन मंगलवार को विभिन्न कार्यक्रमों में ये बातें कहीं। उन्होंने न्यू साउथ वेल्स प्रांत के प्रमुख माइक बायर्ड तथा आॅस्ट्रेलियाई कारोबारियों से मुलाकात के दौरान विनिर्माण एवं इंफ्रास्ट्रक्चर क्षेत्रों में निवेश के लिए भी आमंत्रित किया।

श्री जेटली ने यहाँ एस.पी. जैन स्कूल ऑफ ग्लोबल मैनेजमेंट के सिडनी परिसर में ‘रिइमेजनिंग इंडिया’ विषय पर लेक्चर के दौरान कहा कि भारत दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्थाओं में एक है, लेकिन यह अब भी अपनी पूरी क्षमता से विकास नहीं कर रहा है। मौजूदा मोदी सरकार के कार्यकाल में वित्तीय अनुशासन एवं महँगाई कम करने की दिशा में महत्वपूर्ण सुधारों के दम पर अर्थव्यवस्था के कुलाँचे भरने का उल्लेख करते हुये उन्होंने कहा कि इनसे विकास की रफ्तार बढ़ी है और अर्थव्यवस्था में स्थिरता आई है।

उन्होंने कहा कि अगले कुछ वर्षों के लिए आठ प्रतिशत या इससे ज्यादा की दर से विकास के लिए जमीन तैयार हो चुकी है। यूनियन बैंक ऑफ इंडिया की सिडनी शाखा के उद्घाटन के मौके पर वित्त मंत्री ने कहा कि ऊँची विकास दर हासिल करने में बैंकों की भूमिका महत्वपूर्ण होगी।

उन्होंने बैंकों को आश्वासन दिया कि पुन: पूँजीकरण के लिए उन्हें पर्याप्त राशि उपलब्ध कराई जायेगी। एस.पी. जैन स्कूल ऑफ ग्लोबल मैनेजमेंट में अपने लेक्चर के दौरान वित्त मंत्री ने कहा कि पिछली वैश्विक मंदी के समय भी भारतीय अर्थव्यवस्था ने इसका मजबूती से सामना किया था। अनिश्चित वैश्विक आर्थिक परिस्थितियों के बाद भी महँगाई दर, वित्तीय घाटा और चालू खाता घाटा जैसे आर्थिक मानकों पर देश की अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण सुधार हुआ है।

Related Posts:

शेहला मासूद हत्याकाण्ड हिरासत 18 मई तक
इंजीनियरिंग में साझा प्रवेश परीक्षा अपनायें राज्य
ललित की लीगल फर्म ने लौटाया ईडी का नोटिस
आरएसएस-भाजपा के पास वर्तमान और भविष्य की सोच नहीं : राहुल
पाकिस्तानी उच्चायोग का नागरिक जासूसी में पकड़ा गया, देश निकाला
जयललिता की मौत के मामले की न्यायिक जांच करायी जायेगी : पन्नीरसेल्वम