modi4सिंगापुर, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आतंकवाद को धर्म से अलग रखने की अपील करते हुए पाकिस्तान का नाम लिये बिना आज कहा कि जो देश आतंकवाद को समर्थन देते हैं या आतंकवादियों को पनाह देते हैं उनको इसके लिए जवाबदेह बनाया जाना चाहिए।

श्री मोदी ने 37वें सिंगापुर लेक्चर ‘इंडियाज सिंगापुर स्टोरी’ में कहा “ दुनिया भर के देशों को मिलकर आतंकवाद के खिलाफ अवाज उठानी चाहिए। देशों के बीच राजनीतक, कानूनी, सैन्य और खुफिया स्तर पर सहयोग होना चाहिए लेकिन आतंकवाद से निपटने के लिए हमें और प्रयास करने होंगे। ”

उन्होंने कहा कि आतंकवाद आज दुनिया के सामने मौजूद एक बहुत बड़ा खतरा है जिसका असर न केवल देश बल्कि समाजों तक हो सकता है और इसकी चपेट में आकर न केवल बड़ी संख्या में लोग मारे जाते हैं बल्कि यह अर्थव्यवस्थाओं को भी बरबाद कर सकता है।

श्री मोदी ने कहा “ देशों को आतंकवाद का सामना करने के लिए एक दूसरे का सहयोग करना चाहिए। हमें आतंकवाद को धर्म से अलग रखना चाहिए ।””

Related Posts:

रिकार्ड ऊंचाई पर पहुंचेगा इस बार खाद्यान्न उत्पादन
लादेन के परिवार को सऊदी अरब भेजेगा पाकिस्तान
सोनाक्षी को मिली 101 रु. की बख्शीश
मुख्यमंत्री ग्लोबल इन्वेस्टर मीट से पहले निवेश की भरपूर संभावना
रेल बजट में सुविधा, सुरक्षा व संचालन पर विशेष जोर
गरीब देशों देशों की मदद करना अमीर राष्ट्रों की जिम्मेदारी : जेटली