modi9कुआलालंपुर,  भारत और मलेशिया ने रक्षा, आर्थिक एवं सांस्कृतिक संबंधों को और प्रगाढ़ बनाने की इच्छा का इज़हार करते हुए साइबर सुरक्षा, सांस्कृतिक आदान-प्रदान और प्रशासन के क्षेत्र में सहयोग के तीन अहम करार किये तथा आतंकवाद और जलवायु परिवर्तन की चुनौतियों से मुकाबले में मिल कर काम करने का ऐलान किया।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मलेशिया के प्रधानमंत्री दातो सिरी नजीब तुन रज़ाक के बीच आज यहाँ द्विपक्षीय बैठक में ये फैसले किये गये। बैठक के बाद संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में श्री मोदी ने भारत एवं मलेशिया के बीच इतिहासकाल से बहुआयामी संबंधों का उल्लेख करते हुए कहा कि धर्म और संस्कृति के मूल्यों पर आधारित हमारे संबंध लोकतंत्र एवं विविधता में परिभाषित हुए हैं। हमने एक गतिशील आर्थिक साझेदारी स्थापित की है।

उन्होंने कहा कि दोनों देश इस साझेदारी को नयी गति प्रदान करने के लिये नवस्फूर्ति से काम करेंगे। श्री रज़ाक ने श्री मोदी को “मैन ऑफ एक्शन” बताते हुए कहा कि मलेशिया भी भारत के साथ अपने विविध आयामी संबंधों को और प्रगाढ़ बनाने की इच्छा रखता है। उन्होंने कहा कि इसकी अपार संभावनायें हैं। मलेशियाई प्रधानमंत्री ने आतंकवाद और जलवायु परिवर्तन की चुनौतियों से निपटने में भारत के साथ मिल कर काम करने की घोषणा की।

Related Posts: