rajnathनयी दिल्ली,  भारत ने आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान पर परोक्षरूप से तीखा हमला करते हुए कहा है कि आतंकवाद मानवता के विरुद्ध है तथा पूरी दुनिया, विशेषकर दक्षिण एशिया में शांति एवं खुशहाली के लिए यह बड़ी चुनौती बन गया है इसलिए इसका समर्थन करने वाले व्यक्तियों, संस्थाओं, संगठनों और देशों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई की जरूरत है।

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने पाकिस्तान के इस्लामाबाद में गुरुवार को आयोजित दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संघ (दक्षेस) देशों के गृहमंत्रियों की सातवीं बैठक में भाग लेकर लौटने के बाद आज संसद के दोनों सदनों में अपना वक्तव्य देते हुये कहा कि इस बैठक का एजेंडा आतंकवाद, मादक पदार्थ की तस्करी, साइबर अपराध और मानव तस्करी थे। उन्होंने कहा कि इस बैठक में लगभग सभी देशों ने आतंकवाद की घोर भर्त्सना की और भारत ने इस मुद्दे पर विशेष रूप से जोर दिया।

श्री सिंह ने आतंकवाद को दक्षिण एशिया में शांति और खुशहाली के लिए सबसे बड़ा खतरा करार दिया और कहा कि इस चुनौती से मिलकर निपटा जाना चाहिए। उन्होंने इसे जड़ से उखाड़ फेकने का पक्का संकल्प लेने का आह्वान करते हुये दक्षेस देशों से आग्रह किया कि वे आतंकवाद को न:न तो महिमामंडित करें और न:न इसको संरक्षण दें। एक देश का आतंकवादी किसी के लिए भी शहीद या स्वतंत्रता सेनानी नहीं हो सकता।

उन्होंने कहा कि आतंकवाद से पूरी दुनिया पीड़ित है। दक्षेस देश से भी इससे पीड़ित हैं इसलिए कई देशों ने इसकी हैवानियत रोकने पर बल दिया है। उन्होंने कहा कि आतंकवाद को परिभाषित नहीं किया जा सकता है और इसे भला अथवा बुरा नहीं कहा जा सकता है।

Related Posts: