lekhiनयी दिल्ली,  भारतीय जनता पार्टी ने आज आम आदमी पार्टी (आप) पर पलटवार करते हुये कहा कि वह अपनी सरकार की विफलताअाें के लिये मोदी सरकार को जिम्मेदार ठहराने से बाज आये।

भाजपा की प्रवक्ता मीनाक्षी लेखी ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने गैर कानूनी ढंग से 21 संसदीस सचिवों की नियुक्ति की और बाद में उसे कानूनी जामा देने का प्रयास किया जो विफल हो गया।इसके लिये मोदी सरकार को जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता। उन्होंने कहा कि केजरीवाल सरकार ने कानून में संशोधन किये बिना ही गलत ढंग से आप के 21 विधायको काे संसदीय सचिव नियुक्त कर दिया । साथ ही संसदीय सचिवों के संबंध में चुनाव आयोग को झूठा हलफनामा दिया और उसे बताया कि उन्हें कोई आर्थिक लाभ नहीं दिया जाता है जबकि विधानसभा अध्यक्ष कार्यालय ने सूचना के अधिकार के तहत मांगी गई जानकारी में कहा है कि संसदीय सचिवों को कमरे आवंटित किये गये हैं ।

श्रीमती लेखी ने कहा कि संसदीय सचिवों की नियुक्ति का मामला चुनाव आयोग में विचाराधीन है और इस संबंध में कानून अपना काम करेगा । उन्होंने कहा कि दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा नहीं है लेकिन यहां सात मंत्री और एक संसदीय सचिव कानूनी तौर पर बनाया जा सकता है ।

उल्लेखनीय है कि दिल्ली सरकार ने संसदीय सचिवों की नियुक्ति को कानूनी जामा देने के लिये कानून में संशोधन का एक विधेयक राष्ट्रपति को भेजा था जिसे कल अस्वीकृत कर दिया गया था । इसे लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुये कहा कि वह दिल्ली में भाजपा की हार को पचा नहीं पाए हैं और इसलिए दिल्ली सरकार के काम काज में हर समय बाधा खड़ी करते रहते हैं।

श्रीमती लेखी ने कहा कि आप सरकार लोंगो को सादगी , भ्रष्ट्राचार मुक्त और पारदर्शी प्रशासन देने का वादा करके सत्ता में आई थी लेकिन वह अपने वादों को पूरा करने में पूरी तरह से विफल रही है और हर बात के लिये वह मोदी सरकार को दोषी ठहराने का प्रयास करती है । उन्होंने कहा कि दिल्ली में बिजली , पानी , बेरोगारी और मूलभूत समस्याएं अब भी बनी हुई हैं ।

Related Posts: