bhushanनई दिल्ली,2मार्च,नससे.  आम आदमी पार्टी में तकरार और उठापटक तेजी से बढ़ रही है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रशांत भूषण और योगेंद्र यादव से अनबन की वजह से राष्ट्रीय संयोजक पद से इस्तीफे की पेशकश कर डाली थी. प्रशांत भूषण और योगेंद्र यादव संसदीय कार्य समिति में नहीं रहना चाहते हैं. उन्होंने साफ तौर पर कह दिया है.

पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की ओर से गठित तीन सदस्यीय कमिटी को अब इस मामले में सभी पक्षों से बातचीत कर फैसला लेना है. इन पर फै सला 4 मार्च को हो सकता है पार्टी के आंतरिक लोकपाल एडमिरल रामदास की 25 फरवरी को पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी और संसदीय कार्यसमिति को भेजी चि_ी में भी पार्टी में लोकतंत्र को लेकर कई सवाल उठाए गए हैं.

Related Posts: