gujratअहमदाबाद, 27 अगस्त. पटेल आरक्षण की आग में जल रहे गुजरात में हालात अभी तक सामान्य नहीं हुए हैं. अब तक हिंसा में 9 लोग मारे जा चुके हैं, जबकि राज्य के कई हिस्सों में अभी तक कर्फ्यू जारी है. गुरुवार को सूरत के दो इलाकों वारचा और कपुदरा से कर्फ्यू हटा लिया गया.

पुलिस कंट्रोल रूम के अधिकारियों ने बताया कि राज्यों में देर रात को पथराव की कुछ घटनाओं के अलावा अन्य कहीं से भी बड़ी हिंसा की खबर नहीं है. दाभोली इलाके में प्रदर्शनकारियों के साथ झड़पों में चौक बाजार पुलिस थाने का सिपाही दिलीप राठोर घायल हुआ था जिसकी एक निजी अस्पताल में मौत होने के साथ ही हिंसा में जान गंवाने वालों की संख्या नौ हो गई. अहमदाबाद, सूरत, राजकोट, मेहसाणा, पालनपुर, उंझा, विसनगर और जामनगर शहरों में कर्फ्यू जारी है. हालांकि पाटन में कर्फ्यू हटा लिया गया है.

बीती रात अहमदाबाद में सेना के पांच कॉलम तैनात किए गए. प्रत्येक कॉलम में 57 जवान हैं. सेना के अधिकारियों ने यह जानकारी देते हुए बताया कि सूरत, मेहसाणा और राजकोट में सेना के दो दो कॉलम तैनात किए गए हैं. अहमदाबाद के पांच इलाकों में बुधवार को सेना ने फ्लैग मार्च किया. प्रदर्शनकारियों ने कम से कम आठ जगहों पर रेलवे पटरियों को क्षतिग्रस्त कर दिया.