PANNA_BUSपन्ना, 5 मई का. पन्ना जिले के मड़ला घाटी में हुए भीषण बस हादसे की आंच अब अधिकारियों तक पहुंचने लगी है. हादसे का शिकार हुई यात्री बस में आपातकालीन द्वार न होने के लिए दोषी मानते हुए प्रदेश के परिवहन मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने तत्काल प्रभाव से सतना आरटीओ अनुरूद्ध सिंह को निलंबित किये जाने के आदेश दिए हैं. परिवहन मंत्री ने आज अपरान्ह घटना स्थल का जायजा लेने के साथ ही हादसे में घायल हुए यात्रियों से अस्पताल में जाकर चर्चा की है.

प्रदेश के परिवहन मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने स्थानीय सर्किट हाउस में आयोजित प्रेसवार्ता में बताया कि पन्ना के मड़ला घाटी में हुआ बस हादसा अत्यधिक दु:खद और दर्दनाक है. ड्राइवर द्वारा तेज गति से गाड़ी चलाने तथा लापरवाही के कारण यह खौफनाक हादसा हुआ है. बस चालक समसुद्दीन के खिलाफ पन्ना पुलिस द्वारा मामला कायम किया गया है. उन्होंने बताया कि घटना स्थल पर जाकर दुर्घटना ग्रस्त यात्री बस को उन्होंने निकट से देखा है. हादसे में जो 14 यात्री बचे हैं वे यात्री बस के सामने वाला कांच तोड़कर बाहर निकले हैं. दुर्भाग्य से बस उसी तरफ पलटी थी, जिस ओर दरवाजे थे. इसलिए अन्य यात्री बाहर नहीं निकल सके. आपने बताया कि यात्री बस में इमरजेन्सी गेट में लोहे की राड फिट कर वहां सीट लगा दी गई थी. यदि ऐसा न होता तो इमरजेन्सी गेट से अधिकांश यात्री बाहर निकल जाते और इतना बड़ा दर्दनाक हादसा न होता. यात्री बस में आपातकालीन द्वार को बंद कर वहां सीट लगवाने के लिए बस मालिक के खिलाफ मामला दर्ज किया जायेगा.

Related Posts: