नयी दिल्ली,

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने हीरा कारोबारी नीरव मोदी और मेहुल चोकसी की संलिप्तता वाले बैंक धोखाधड़ी मामले तथा पूर्ववर्ती संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार द्वारा सोना आयात नीति में ढील दिए जाने के सिलसिले में भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के पूर्व डिप्टी गवर्नर एच. आर. खान से आज पूछताछ की।

सूत्रों ने यहां बताया कि खान से संप्रग सरकार की 20:80 सोना आयात योजना के बारे में पूछताछ की गई, जिसकी मंजूरी तत्कालीन वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने आम चुनाव की मतगणना से महज तीन दिन पहले 13 मई 2014 को दी थी।

सीबीआई हीरा कारोबारी नीरव मोदी और उनके करीबी रिश्तेदार मेहुल चोकसी की संलिप्तता वाले 13,000 करोड़ रूपये के कथित पीएनबी धोखाधड़ी की जांच कर रही है।

सूत्रों के अनुसार, सीबीआई ने कल भी आरबीआई के तीन मुख्य महाप्रबंधकों और एक महाप्रबंधक से पूछताछ की थी।इस बीच आरबीआई के सूत्रों ने बताया कि बैंक के अधिकारियों को नीतिगत मामलों के बारे में पता करने के लिए बुलाया था।

गौरतलब है कि पीएनबी की ब्रैडी हाउस शाखा से एलओयू के जरिये बैंक धोखाधड़ी को अंजाम देने वाला नीरव मोदी फिलहाल देश से बाहर है।

वहीं उसकी कंपनी फायरस्टार डायमंड ने न्यूयॉर्क की एक अदालत में दिवालिया अर्जी भी दाखिल की थी।इस मामले के मीडिया में सामने आने के बाद नीरव मोदी ने यह भी कहा था कि इन खबरों के सामने आने के बाद उसके ब्रांड को काफी नुकसान पहुंचा है।

Related Posts: