पुलिस जांच में सामने आई हकीकत, आज कर सकती है खुलासा

नवभारत न्यूज भोपाल,

गुनगा थाना अंतर्गत कलेक्शन एजेंट से हुई लूट की कहानी पुलिस को पड़ताल में फर्जी पाई गई है. पुलिस को सामने आया है कि एजेंट ने आर्थिक स्थिति खराब होने की वजह से गढ़ी थी. एजेंट ने अपने भाई को पैसे दे दिए थे और लूट की घटना पुलिस को बताई थी. पुलिस अधिकारी आज इस मामले का खुलासा कर सकते हैं.

गुनगा पुलिस के मुताबिक राहुल चौहान उम्र 25 वर्ष निवासी कालापीपल कलेक्शन एजेंट है. उस पर कुछ लोगों का कर्ज होने से वह परेशान चल रहा था, जिसके चलते उसने लूट की घटना बनाकर रुपए हड़पने की योजना बनाई.

राहुल ने बताया कि शुक्रवार सुबह जब वह कलारा से रुपए लेकर आ रहा था, तभी इजगिरी रोड़ पर दो बाइक पर सवार होकर आए बदमाशों ने उसके आंखों में मिर्ची झोंक दी और टक्कर मार दी, जिससे वह गिर पड़ा.

इसके बाद मौका पाकर बदमाश उससे 49 हजार रुपए छीन ले गए. पुलिस ने अज्ञात आरोपियों के विरूद्व लूट का मामला दर्ज कर पड़ताल की तो सामने आया कि फरियादी की आंखों में मिर्च नहीं डली थी, केवल उसके हेलमेट पर ऊपर मिर्च का पाउडर लगा था, इसके साथ ही बाइक में स्के्रच के निशान नहीं मिले जिससे पुलिस का शक गहराया.

फरियादी के खिलाफ दर्ज हो सकता है मामला

जब पुलिस ने सख्ती से घटना के संबंध में पूछताछ की तो उसने बताया कि उसने अपने भाई को पैसे देकर कालापीपल भेज दिया था और लूट की फर्जी कहानी बना ली थी. पुलिस को फरियादी गाड़ी के नंबर भी नहीं बता सका था, जिसके चलते पुलिस का शक गहरा गया था. सूत्रों की मानें तो पुलिस इस मामले में राहुल के विरूद्ध मामला दर्ज कर सकती है. बताया जा रहा है कि पुलिस ने राशि भी बरामद कर ली है.

Related Posts: