मुंबई. निचले स्तरों से रिकवरी के बावजूद घरेलू बाजार गिरावट पर ही बंद हुए हैं। आज बाजार ने बेहतर शुरुआत की थी और काफी वक्त तक बढ़त के साथ ही आगे बढ़ रहा था। लेकिन चीन के बाजार में आई तेज गिरावट ने घरेलू बाजारों पर दबाव बनाने का काम किया। शंघाई कम्पोजिट 6.5 फीसदी गिरकर 3,750 के नीचे बंद हुआ है। लाल निशान में आने से पहले आज सेंसेक्स ने 28,040.73 का ऊपरी स्तर बनाया था, तो निफ्टी ने 8,525.75 तक दस्तक दी थी। हालांकि, अंत में सेंसेक्स और निफ्टी 0.2 फीसदी तक गिरकर बंद हुए हैं।

दिग्गज शेयरों में भले ही मुनाफावसूली देखने को मिली हो, लेकिन मिडकैप शेयरों में अच्छी खरीदारी दिखी है। सीएनएक्स मिडकैप इंडेक्स 0.5 फीसदी की बढ़त के साथ 14,050 के बेहद करीब बंद हुआ है। स्मॉलकैप शेयरों में भी अच्छी खरीदारी दिखी है। बीएसई का स्मॉलकैप इंडेक्स करीब 1 फीसदी की बढ़त के साथ 11,892 के स्तर पर बंद हुआ है।

आईटी, कंज्यूमर ड्युरेबल्स, टेक्नोलॉजी, कैपिटल गुड्स और ऑटो शेयरों में खरीदारी से बाजार में रिकवरी नजर आई है। बीएसई के आईटी, कंज्यूमर ड्युरेबल्स, टेक्नोलॉजी, कैपिटल गुड्स और ऑटो इंडेक्स 1.6-0.6 फीसदी तक बढ़कर बंद हुए हैं। हालांकि मेटल और फार्मा शेयरों में बिकवाली ने बाजार पर दबाव बनाने का काम किया है। बीएसई के मेटल इंडेक्स में 1.9 फीसदी और फार्मा इंडेक्स में 0.6 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है। बैंकिंग, पावर और रियल्टी शेयरों में भी थोड़ी बिकवाली दिखी है। बैंक निफ्टी 0.25 फीसदी गिरकर 18,780 के आसपास बंद हुआ है।

सेंसेक्स 46.7 अंकों की कमजोरी के साथ 27,831.5 के स्तर पर सपाट होकर बंद हुआ है। वहीं एनएसई का निफ्टी 11 अंकों की गिरावट के साथ 8,466.5 के स्तर पर सपाट होकर बंद हुआ है। आज के कारोबार में सेंसेक्स ने 27,747.4 का निचला स्तर बनाया, तो निफ्टी ने 8,433.6 तक गोता लगाया।