राजाधानी के गिरजाघरों में हुईं विशेष प्रार्थना सभाएं, लोगों ने एक-दूसरे को दी बधाईयां

  • सांता क्लॉज ने बच्चों को बांटें चॉकलेट

नवभारत न्यूज भोपाल,

क्रिसमस की शाम पूरे शहर के विभिन्न स्थानों पर शहरवासियों की भीड़ उमड़ पड़ी. शहर के चर्च, मॉल, रेस्टोरेंट, पार्क और घरों में सोमवार को क्रिसमस की धूम रही.

बच्चों ने सांता बनकर शाम का मजा लिया वहीं मॉल, रेस्टोरेंट्स को क्रिसमस की थीम पर सजाया गया. लोगों ने शाम को चर्च में आयोजित स्पेशल प्रार्थना में भाग लिया.

जहांगीराबाद के सेन्ट जोसफ चर्च, गोविंदपुरा के सेन्ट पीटर्स मेरधोमा चर्च, अशोका गार्डन के सेन्ट थॉमस ऑरथोडक्स चर्च समेत अन्य चर्चों में विशेष प्रार्थना सभायें हुईं. इसके बाद कैरोल ङ्क्षसङ्क्षगग व सांस्कृतिक कार्यक्रम में लोगों ने भाग लिया.

क्रिसमस की पहली रात 12 बजते ही शहर के गिरजाघरों में आनंद की वर्षा शुरू हो गई. प्रभु ईसा मसीह के जन्म लेते ही हैप्पी क्रिसमस और मैरी क्रिसमस की आवाज गूंजने लगी. घंटियों की मधुर आवाज में लोगों ने प्रभु यीशु की जय-जयकार की. मसीह समाज के लोगों को पादरी ने शुभ समाचार दिया की प्रभु यीशु ने जन्म ले लिया है.

पूरे दिन शहर में क्रिसमस की धूम मची रही. मसीह समाज के लोग दिनभर सिश्तेदारों से मिलते रहे. चर्च में सांता क्लाज बच्चों को चॉकलेट और खुशियां बांटते नजर आये.

माना जाता है कि 25 दिसंबर को यीशु का जन्म हुआ था. उनके जन्मदिन को हर साल क्रिसमस डे के रूप में मनाया जाता है. इस दिन क्रिसमस ट्री को गिफ्ट, लाइट और अन्य सजावट की वस्तुओं से सजाया जाता है. क्रिसमस की पूर्व संध्या यानि 24 दिसंबर की शाम को ही इस पर्व का प्रारंभ हो जाता है.

लगभग सभी चर्च में यह दृश्य देखने को मिला. लोग इस दिन चर्च में जाते हैं और प्रार्थना करते हैं. यीशु भगवान अपने उच्च विचारों के कारण दुनिया भर में प्रसिद्ध हैं, जिन्होंने लोगों को शांति का संदेश दिया है.

हमेशा से ही क्रिसमस के लिये एक्साइटेड रहती हूं. दिन भर दोस्तों के साथ घूमना और शॉपिंग करना क्रिसमस में अच्छा लगता है. गिफ्ट्स भी मिलते हैं.
-प्रियंका राज

मैं घर से बाहर रहता हूं. फिर भी यहां दोस्तों के साथ क्रिसमस पर्व अच्छे से मना रहा हूं. दो दिन की छुट्ट मिल गई है तो क्रिसमस का मजा दोगुना हो गया है.
-जी. कार्तिक

 

Related Posts: