guptaभोपाल,  प्रदेश के तकनीकी शिक्षा मंत्री उमाशंकर गुप्ता ने इंजीनियरिंग कॉलेज में होने वाले निर्माण कार्य किसी एजेंसी से नहीं करवाने के निर्देश दिए है।

श्री गुप्ता ने यह निर्देश आज शासकीय इंजीनियरिंग कॉलेज उज्जैन और जबलपुर की शासी निकाय की बैठक में दिये। उन्होंने कहा कि इंजीनियरिक कालेज में होने वाले कार्य किसी एजेंसी के माध्यम से नही करवाकर स्वयं करवाई जाए। उन्होंने कहा कि पुराने स्वीकृत कार्य पूरे होने के बाद ही नये कार्य स्वीकृत किये जायेंगे। उन्होंने लेखा में अनियमितता पर दोनों इंजीनियरिंग कॉलेज के लेखापाल को निलंबित करने के निर्देश दिये।

उन्होंने कहा कि कॉलेज परिसर में शासकीय आवास में रहने वाले कर्मचारी-अधिकारी को बिजली और नल का बिल खुद करना होगा। उन्होंने इंजीनियरिंग कॉलेज उज्जैन में बी.फार्मा. कोर्स के लिये बॉटनिकल गार्डन और एनिमल हाउस बनाने के प्रस्ताव का अनुमोदन किया। उन्होंने कहा कि कार्पस फण्ड में 10 करोड़ से अधिक नहीं रखी जाए और शेष राशि से कार्य करने का प्रोजेक्ट बनवायें। इंजीनियरिंग कॉलेज जबलपुर के स्टॉफ की ई.पी.एफ. की राशि समय पर नहीं जमा करने वाले के विरुद्ध कार्रवाई के निर्देश दिये। जबलपुर कॉलेज के लिये स्वीकृत सभी कार्य 3 माह में पूरे करवाने के निर्देश दिये।