जकार्ता,

इंडोेनेशिया में माउंट अागुंग ज्वालामुखी में विस्फाेट के दूसरे दिन आज पर्यटक द्वीप बाली के हवाई अड्डाें को बंद किए जाने से 89 हजार पर्यटक फंस गए हैं।ज्वालामुखी से निकल रहे धुएं के कारण 445 विमान उड़ानें प्रभावित हुई हैं।

आधिकारिक जानकारी के अनुसार हवाई अड्डों को बंद किए जाने की वजह से196 अंतरराष्ट्रीय और 249 घरेलू उड़ानें प्रभावित हुई हैं।समाचार समिति अंतारा ने परिवहन मंत्रालय के महासचिव सुगीहारजो के हवाले से बताया कि ज्वालामुखी से आ रहे धूल और धुएं के गुबार की दिशा को देख कर ही हवाई अड्डों को खोलने या बंद करने का निर्णय लिया जाएगा।

वायु परिवहन मंत्रालय की निदेशक मारिया क्रिस्टी एंदाह मुरनी ने बताया कि सरकार स्थिति पर लगातार नजर रख रही है।उन्होंने कहा कि ज्वालामुखी में और जोरदार विस्फोट होने की आशंका है।

अभी भी ज्वालामुखी से 3400 मीटर ऊंचाई पर काला धुुआं तथा राख का जोरदार गुबार नजर आ रहा है जिसकी वजह से बाली के नगुराह राय हवाईअड्डे को कल और अाज भी बंद करना पड़ा।

ज्वालामुखी विस्फाेट के कारण अधिकारियाें ने 10 किलोमीटर के दायरे के गांवों के लोगों और पर्यटकों को वहां से हट जाने के निर्देश दिए हैं।लगभग तीस हजार लोगों ने पहले ही यह क्षेत्र खाली कर दिया है।