mp2इंदौर. शहर ने एक बार फिर अंगदान के क्षेत्र में इतिहास रच दिया है. स्व.रमेश असरानी के परिजनों ने अंगदान करके चार लोगों की जान बचाई. कमिश्नर संजय दुबे ने बताया कि इंदौर आर्गन सोसायटी और एनजीओ मुस्कान ग्रुप द्वारा काउंसलिंग करके ब्रेन डेड रमेश असरानी के परिजनों को अंगदान के लिये सहमत किया. इसके बाद विशेष विमान से उनका लीवर ट्रांसप्लांट के लिये मेदांता अस्पताल गुडग़ांव भेजा गया.

स्व.असरानी का लीवर, दोनों किडनी, आंख और त्वचा अलग-अलग लोगों को ट्रांसप्लांट की जा रही है. लीवर को ले जाने के लिये इंदौर और दिल्ली में ट्राफिक का ग्रीन कोरिडोर तैयार किया गया. इस काम में इंदौर के ट्राफिक पुलिस और औद्योगिक सुरक्षा बल की विशेष भूमिका रही. दान लेने और देने तथा ब्रोन डेड व्यक्ति को इंदौर के आनंद अस्पताल से चोइथराम अस्पताल लाने की कार्रवाई पिछली रातभर चलती रही.

Related Posts: