इस समय देश में मिशन इंद्रधनुष के नाम से टीकाकरण का सघन कार्यक्रम चलाया जा रहा है. प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने 8 अक्टूबर को इसका आरंभ किया. वे अपने सार्वजनिक समारोह में इसको सफल बनाने का आग्रह करते जा रहे हैं.

इस मामले में मध्यप्रदेश ने उल्लेखनीय प्रगति की है. इंदौर (शहर) इस कार्यक्रम में 101 प्रतिशत की उपलब्धि पाकर देश में दूसरे स्थान पर आया है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री श्री जगत प्रकाश नड्डा ने अपने वीडियो कान्फ्रेंस प्रोग्राम में जिसमें 24 राज्यों के प्रमुख सचिव स्वास्थ्य शामिल थे, मध्यप्रदेश में इसके कामों व उपलब्धियों की प्रशंसा की.

मध्यप्रदेश में उन पंचायतों को 2 लाख रुपयों का पुरस्कार दिया जायेगा जहां शत-प्रतिशत टीकाकरण हो जायेगा. लक्ष्य की उपलब्धि के लिये आशा व आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को ए.एन.एस. प्रशिक्षण दिया गया है.

श्री नड्डा ने अन्य राज्यों से भी कहा है कि वे भी मध्यप्रदेश की तरह उनके राज्यों में उन पंचायतों के लिये पुरस्कार घोषित कर वहां इन्द्रधनुष कार्यक्रम को पूरी सघनता से लागू करे. इस अभियान में बच्चों को डिप्थीरिया, काली खाँसी, टिटनेस, पोलियो, क्षय रोग और खसरा के टीके लगाये जायेंगे.

यही रोग बाल मृत्यु व कुपोषण का मुख्य कारण है. इस अभियान से देश भर में बाल जीवन को सुरक्षित व स्वस्थ बनाया जा रहा है और मध्यप्रदेश इसमें बढ़-चढ़कर भाग ले रहा है.

Related Posts: