arunदुबई, वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा है कि सरकार बढ़े हुये कर राजस्व का इस्तेमाल इंफ्रास्ट्रक्चर के विकास में करेगी।

विदेशी निवेश को बढ़ावा देने के उद्देश्य से संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) की दो दिवसीय यात्रा पर आये श्री जेटली ने एक साक्षात्कार में कहा कि सरकार कर से प्राप्त आय में हुई बढ़ोतरी का इस्तेमाल अपनी उधारी कम करने की बजाय इंफ्रास्ट्रक्चर के विकास में करेगी। उल्लेखनीय है कि चालू वित्त वर्ष के पहले सात महीने में अक्टूबर तक अप्रत्यक्ष कर संग्रह पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि के मुकाबले 36 प्रतिशत बढ़कर 3.83 लाख करोड़ रुपये पर पहुँच गया है।

श्री जेटली ने कहा कि सरकार ने चालू वित्त वर्ष में वित्तीय घाटा कम कर सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के 3.9 प्रतिशत तक रखने का लक्ष्य रखा था। वह अपनी उधारी कम कर वित्तीय घाटे में और कमी करने के बदले इसे 3.9 फीसदी पर ही रखना बेहतर समझती है। उन्होंने कहा कि उच्च विकास दर हासिल करना तथा गरीबी कम करना आने वाले वर्षों में सरकार की प्राथमिकताएँ हैं।

Related Posts: