कौशल विकास प्रशिक्षण कार्यक्रमों की सराहना की

भोपाल,

इजराइल कौंसुल जनरल याकोव फिंकेल्स्टीन ने युवाओं को रोजगार सक्षम बनाने के लिए सेंटर फॉर रिसर्च एंड इंडस्ट्रियल स्टाफ परफॉर्मेंस (सीआर आईएसपी या क्रिस्प) के कौशल विकास प्रशिक्षण कार्यक्रमों की प्रशंसा की है.

कौंसुल जनरल ने कहा कि भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और इस्राइल के बेंजामिन नेतन्याहू द्वारा परस्पर देशों का दौरा करने के बाद से दोनों देशों के बीच सहयोग में वृद्धि हुई है. उन्होंने क्रिस्प का दौरा करने के दौरान भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) भोपाल चैप्टर के सदस्यों से भी बातचीत की.

इस्राइल के कौंसुल जनरल याकोव फिंकेल्स्टीन ने कहा कि भारत और इस्राइल शिक्षा एवं प्रशिक्षण कार्यक्रमों के क्षेत्र में साझेदारी व सहयोग को मजबूत करने के लिए प्रयास कर रहे हैं और मध्य प्रदेश चूंकि भारत का दिल कहलाता है, इसलिए इसका इस्राइल के साथ जुड़े रहना महत्वपूर्ण है.’

क्रिस्प के सीईओ मुकेश शर्मा ने कहा कि क्रिस्प का फोकस उम्मीदवारों को प्रशिक्षण देने पर केंद्रित है, ताकि पेशेवर कौशल प्रशिक्षण के जरिए रोजगार प्राप्त करने में मदद मिल सके. हमारे कौशल प्रशिक्षण कार्यक्रमों का उद्देश्य है युवाओं को तकनीकी प्रवीणता सुधारने में मदद करना और उनमें आत्मविश्वास, ज्ञान व कौशल विकसित करना.’

मप्र से जुडऩा चाहता है इजराइल

सेंटर फॉर रिसर्च एंड इंडस्ट्रियल स्टाफ परफॉर्मेंस (सीआरआई एसपी) की स्थापना, 1997 में भारत-जर्मनी तकनीकी सहयोग समझौते के तहत एक सोसायटी के रूप में की गयी थी.

एमएसएमई मंत्रालय, भारत सरकार, इस परियोजना के लिए लाइन मंत्रालय था, जबकि तकनीकी शिक्षा एवं कौशल विकास विभाग, मध्य प्रदेश सरकार तथा जर्मन तकनीकी सहयोग एजेंसी (जीटीजेड) कार्यान्वयन में भागीदार थी. इसका मुख्यालय भोपाल में है तथा इसका जोर राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय कार्यों के साथ मानव संसाधन विकास और संगठनात्मक विकास करने पर है.

Related Posts:

रेलवे स्टेशनों के लिए बनेगा प्राधिकरण: रेलमंत्री
अवैध अनुमतियों से छिन रही आदिवासियों की जमीनें
साँची बुद्धिस्ट यूनिवर्सिटी के शिलान्यास पर दो राष्ट्रों के प्रतिनिधि होंगे शामि...
फूड फेस्टिवल में परोसे गए लजीज व्यंजन
कबाड़ से जुगाड़ हेतु महापौर ने खरीदा जूना-पुराना सामान
किसी भी धर्म में हिंसा की नहीं है इजाजत